यूपी में योगी सरकार के तीन साल, अब बीजेपी को हुई फिक्र; विधायकों-सांसदों को दिया यह जिम्मा

उत्तर प्रदेश सरकार के तीन साल पूरे होने पर गांव-गांव तक सरकार की उपलब्धियां पहुंचाएंगे बीजेपी के विधायक और सांसद

यूपी में योगी सरकार के तीन साल, अब बीजेपी को हुई फिक्र; विधायकों-सांसदों को दिया यह जिम्मा

उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो).

खास बातें

  • सांसदों और विधायकों को पांच-पांच गांव सौंपे गए
  • पूर्ववर्ती सरकारों की विफलताओं को उजागर करेगी बीजेपी
  • प्रचार का माइक्रो मैनेंजमेंट भी तैयार किया गया
नई दिल्ली:

यूपी में बीजेपी की सरकार के तीन साल पूरे होने वाले हैं, यानी कि योगी सरकार का कार्यकाल आधे से अधिक बीत चुका है. उत्तर प्रदेश में चुनाव दर चुनाव जनता अपना जनादेश बदलती रही है. यूपी में  समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के बीच लंबे समय तक सत्ता की बागडोर रही है. लंबे अरसे के बाद पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी के हाथ में यूपी की सत्ता आई तो अब वह यहां अपनी जड़ें जमाए रखना चाहती है. यही कारण है कि बीजेपी को दो साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव की फिक्र सताने लगी है. बीजेपी सरकार ने अपना तीन साल का कार्यकाल पूरा होने पर अपनी उपलब्धियों को आम लोगों में प्रचारित करने की योजना बनाई है.        

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने उत्तर प्रदेश सरकार के तीन साल पूरे होने पर गांव-गांव तक सरकार की उपलब्धियों का प्रचार करने का जिम्मा अपने सांसदों और विधायकों को दिया है. इस दौरान सांसद-विधायक पांच-पांच गांवों में जाकर सरकार की उपलब्धियां गिनाएंगे. प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला ने समाचार एजेंसी आईएएनएस को बताया कि "योगी सरकार के तीन वर्ष पूरे होने पर प्रमुख पदाधिकारियों के अलावा सभी विधायकों व सांसदों को अभियान में दायित्व सौंपे गए हैं. सांसदों और विधायकों को पांच-पांच गांव सौंपे गए हैं, जिनमें वह ग्राम चौपालों में केंद्र व प्रदेश सरकार की प्रमुख जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित लोगों की विस्तृत जानकारी देंगे."

शुक्ला ने कहा, "इसके अलावा पूर्ववर्ती सरकारों की विफलताओं और वर्तमान में समाज तोड़ने की साजिश को भी उजागर किया जाएगा. प्रचार का माइक्रो मैनेंजमेंट भी तैयार किया गया है. सभी 57 हजार से अधिक गांवों में संपर्क के दौरान पत्रक वितरण भी होगा."

लखनऊ में 'दंगाइयों' की तस्वीरों वाली होर्डिंग पर पूर्व आईपीएस की फोटो भी! नुकसान वसूलेगी सरकार

उन्होंने बताया , "सरकार के तीन साल पूरे होने पर भाजपा कार्यकर्ता एवं जनप्रतिनिधि 19 मार्च से विशेष अभियान पर निकलेंगे. 24 मार्च तक चलने वाले इस अभियान में प्रदेश के सभी 27 हजार सेक्टरों में बैठकों व संपर्क-संवाद के जरिए सरकार की प्रमुख उपलब्धियों व नीतियों के बारे में लोगों को बताया जाएगा."

यूपी में विधायक निधि दो करोड़ से बढ़ाकर तीन करोड़ रुपए करने का प्रस्‍ताव

ज्ञात हो कि वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी सरकार अपने कामों को प्रत्येक गांवों और बूथों तक पहुंचाना चाहती है. इसी कारण वह अपने प्रचार अभियान में तेजी से जुटी हुई है.

आजम खान को मिला शिवपाल यादव का समर्थन, कहा- योगी सरकार राजनीतिक प्रतिशोध में लिप्त है और...

VIDEO : यूपी का अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(इनपुट आईएएनएस से)