NDTV Khabar

बीजेपी सांसद के सामने ही गार्ड ने कर दी टोलकर्मी की पिटाई, काफिले की बस को VIP लेन से ले जाने के लिए किया था मना

टोल कर्मियों का आरोप है कि कठेरिया के गार्ड्स ने टोल कर्मियों की लाठी डंडों से पिटाई न सिर्फ पिटाई की बल्कि हवा में फ़ायरिंग भी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. गार्ड्स ने हवा में फ़ायरिंग भी की
  2. घटना के दौरान सांसद खुद मौजूद थे
  3. 5 छोटी गाड़ियां और एक बस भी शामिल थी
आगरा:

उत्तर प्रदेश के आगरा में बीजेपी सांसद रामशंकर कठेरिया के गार्ड और समर्थकों पर उनके सामने ही टोल कर्मचारियों की पिटाई का आरोप लगा है. जानकारी के मुताबिक कठेरिया आगरा इनर रिंग रोड रहन कला टोल प्लाज़ा से अपने काफ़िले के साथ गुजर रहे थे. टोल स्टाफ़ के मुताबिक कठेरिया के काफ़िले में उनकी गाड़ी के अलावा 5 छोटी गाड़ियां और एक बस भी शामिल थी. टोल कर्मियों ने बस को VIP लेन की जगह आम लेन से निकालने को कहा. इसी पर हंगामा हुआ और उनके गार्ड ने टोल कर्मियों के साथ मारपीट की. इस दौरान टोल कर्मियों और सांसद के साथ आए लोगों के बीच हाथापाई और नोक-झोंक भी हुई. बाद में टोल कर्मियों को पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी है. पुलिस इस मामले की जांच कर रहे हैं. 

टोल कर्मियों का आरोप है कि कठेरिया के गार्ड्स ने टोल कर्मियों की न सिर्फ पिटाई की बल्कि हवा में फ़ायरिंग भी. इस सबके दौरान रामशंकर कठेरिया भी मौजूद थे. टोल कर्मियों ने इस घटना में स्वयं सांसद ने अपने गार्ड को गोली मारने के लिए उकसाने का आरोप भी लगाया है. 


गौरतलब है कि इस तरह की यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले राजस्थान में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था जहां बीजेपी के नेता ने टोलकर्मियों के साथ मारपीट की थी. राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में एक बीजेपी विधायक ने कथित रूप से टोल प्लाजा के एक कर्मचारी को पीटा था. विधायक द्वारा मारपीट का यह वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था. हालांकि इस घटना को लेकर कोई मामला दर्ज नहीं हुआ था.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस वीडियो में सत्तारूढ़ पार्टी के आरोपी विधायक जीतमल खांट एक टोल प्लाजा कर्मी को घसीटते और थप्पड़ मारते हुए दिख रहे थे.

टिप्पणियां

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड में बीजेपी के विधायक ठुकराल ने महिलाओं को पीटा, मामला दर्ज

पुलिस ने आज बताया था कि हालांकि इस संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है. बांसवाड़ा के पुलिस अधीक्षक कालू राम रावत ने बताया, “ एक वीडियो वायरल हुआ है लेकिन टोल बूथ कर्मियों ने कोई प्राथमिकी दर्ज कराने से इनकार किया है. ''



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement