NDTV Khabar

TOP 5 NEWS: प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना में शामिल, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के हेमंत करकरे पर बयान से विवाद शुरू

कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को गुजरात के सुरेंद्रनगर में आयोजित एक रैली में भाषण के दौरान एक शख़्स ने थप्पड़ मारा, पीएम मोदी के हेलीकॉप्टर की जांच करने वाले अधिकारी के निलंबन का पर पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त कुरैशी ने दिया बड़ा बयान

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
TOP 5 NEWS: प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना में शामिल, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के हेमंत करकरे पर बयान से विवाद शुरू

कांग्रेस की प्रवक्ता रहीं प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना में शामिल हो गई हैं.

नई दिल्ली:

कांग्रेस की प्रवक्ता रहीं प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना में शामिल हो गई हैं. उन्होंने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में शिवसेना ज्वाइन की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि मैं मुंबई में पली बढ़ी हूं. पिछले कुछ दिनों से मुंबई से कट गई थी, लेकिन अब मैं वापस यहां जुड़ना चाहती हूं. भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने  26/11 के मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे के ख़िलाफ़ विवादित बयान दिया है. प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत करकरे ने उन्हें गलत तरीके से फंसाया है. हेमंत करकरे मुंबई में हुए आतंकी हमले में आतंकवादियों की गोलियों का शिकार हुए थे. इसके अलावा जिस केस में साध्वी प्रज्ञा आरोपी थीं, उस मालेगांव सीरियल ब्लास्ट की जांच इनके पास ही थी. हालांकि, उनकी चार्जशीट पर कई तरह के सवाल खड़े हुए थे. कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को गुजरात के सुरेंद्रनगर में आयोजित एक रैली में भाषण के दौरान एक शख़्स ने थप्पड़ मारा. हार्दिक पटेल मंच पर भाषण दे रहे थे. इसी दौरान एक शख़्स चिल्लाते हुए मंच पर चढ़ा और हार्दिक पटेल को थप्पड़ जड़ दिया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हेलीकॉप्टर की कथित रूप से जांच करने वाले अधिकारी के निलंबन का मामला बढ़ता दिखाई दे रहा है. अब पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने इस मामले में बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'पीएम मोदी के हेलीकॉप्टर की जांच करने वाले अफसर का निलंबन दुर्भाग्यपूर्ण तो है ही, साथ ही पीएम और चुनाव आयोग ने अपनी छवि को सुधारने का एक मौका भी गंवा दिया'. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को प्रचार पर रोक समाप्त होते ही अपने आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पर दो ट्वीट किए. उन्होंने साफ-साफ शब्दों में कह दिया है कि मेरे आराध्य रामलला, बजरंग बली और महादेव जी के दर्शन को किसी भी प्रकार की राजनीति से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि आस्था का अधिकार संविधान प्रदत्त है और मुझे इस अधिकार का प्रयोग करने से कोई रोक नहीं सकता.

कांग्रेस से इस्तीफा देकर शिवसेना में शामिल हुईं प्रियंका चतुर्वेदी

4oet53ig

नई दिल्ली: कांग्रेस की प्रवक्ता रहीं प्रियंका चतुर्वेदी शिवसेना में शामिल हो गई हैं. उन्होंने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में शिवसेना ज्वाइन की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि मैं मुंबई में पली बढ़ी हूं. पिछले कुछ दिनों से मुंबई से कट गई थी, लेकिन अब मैं वापस यहां जुड़ना चाहती हूं. मैंने लौटने का मन बनाया तो इस संगठन के अलावा कोई और संगठन ध्यान में नहीं आया. प्रियंका चतुर्वेदी ने अपने साथ हुई अभद्रता का जिक्र करते हुए कहा कि मुझे दुख इस बात का है कि आरोपियों को दोबारा वापस बुला लिया गया. मैंने कांग्रेस को 10 साल दिये. मैंने सब सोच-समझकर ही शिवसेना से जुड़ने का मन बनाया है. जहां भी पार्टी को मजबूत कर सकती हूं, वहां काम करूंगी. मथुरा से टिकट मांगने के सवाल पर प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि मैंने टिकट नहीं मांगा था, बल्कि वहां मेरे मामा का घर है. इस वजह से जुड़ाव है. इससे पहले प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखकर कहा वह भारी मन से इस्तीफा दे रही हूं. उन्होंने 10 साल तक पार्टी में रहकर पूरी लगन से काम किया है. उन्होंने लिखा, 'पिछले कुछ दिनों में हुए कुछ खास घटनाओं ने पूरा भरोसा दिला दिया कि संगठन में मेरी सेवाओं का संगठन में कोई मूल्य नहीं है. अब लगता है, जितना समय पार्टी में बिताऊंगी, मेरे आत्मसम्मान की कीमत पर होगा. दुःख इस बात का है, महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और सशक्तीकरण की जिस बात का पार्टी प्रचार करती है, और आप खुद आह्वान करते हैं, वैसा पार्टी के कुछ सदस्यों के व्यवहार में नज़र नहीं आता'


मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे पर साध्वी प्रज्ञा का विवादित बयान- मैंने उसे कहा था तेरा सर्वनाश होगा!

91ipl8a8

नई दिल्ली: भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने  26/11 के मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे के ख़िलाफ़ विवादित बयान दिया है. प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत करकरे ने उन्हें ग़लत तरीक़े से फंसाया है. प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि एक अधिकारी ने हेमंत करकरे से उन्हें छोड़ने का कहा था लेकिन करकरे ने कहा था कि वो कुछ भी करेंगे, सबूत लाएंगे लेकिन साध्वी को नहीं छोड़ेंगे. साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत करकरे का ये क़दम देशद्रोह था, धर्मविरुद्ध था. साध्वी बोलीं, ''ये उसकी कुटिलता थी ये देशद्रोह था धर्मविरुद्ध था, वो मुझसे पूछता था कि क्या मुझे सच के लिए भगवान के पास जाना होगा, तो मैंने कहा था कि आपको जरूरत है तो जाइए''. सभा में साध्वी ने कहा, ''मैंने उसे कहा था तेरा सर्वनाश होगा, उसने मुझे गालियां दी थीं. जिस दिन मैं गई तो उसके यहां सूतक लगा था और जब उसे आतंकियों ने मारा तो सूतक खत्म हुआ.'' आपको बता दें कि हेमंत करकरे मुंबई में हुए आतंकी हमले में आतंकवादियों की गोलियों का शिकार हुए थे. इसके अलावा जिस केस में साध्वी प्रज्ञा आरोपी थीं, उस मालेगांव सीरियल ब्लास्ट की जांच इनके पास ही थी. हालांकि, उनकी चार्जशीट पर कई तरह के सवाल खड़े हुए थे.


कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल को भाषण के दौरान शख़्स ने मारा थप्पड़

f32luhu8

नई दिल्ली : कांग्रेस नेता हार्दिक पटेल (Hardik Patel) को गुजरात के सुरेंद्रनगर में एक रैली में भाषण देते हुए एक शख़्स ने थप्पड़ मार दिया. समाचार एजेंसी ANI द्वारा जारी वीडियो में दिख रहा है कि हार्दिक पटेल मंच पर भाषण दे रहे हैं. इसी दौरान एक शख़्स चिल्लाते हुए मंच पर चढ़ता है और हार्दिक पटेल को थप्पड़ जड़ देता है. इसके बाद हार्दिक पटेल (Hardik Patel) के समर्थक और शख़्स के बीच हाथापाई होती है. हालांकि अभी शख़्स के बारे में और जानकारी नहीं मिल पाई है, न ही यह पता चल पाया है कि आखिर उसने थप्पड़ क्यों मारा. आपको बता दें कि एक दिन पहले ही दिल्ली में बीजेपी मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एक शख़्स ने जूता फेंक दिया था. जिस वक्त शख़्स ने जूता फेंका था, उस दौरान बीजेपी नेता जीवीएल नरसिम्हा राव प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे. जूता उनके चेहरे को छूते हुए निकल गया था. घटना के तुरंत बाद जूता फेंकने वाले शख़्स को पकड़ लिया गया था. मामले में और छानबीन जारी है. घटना की सूचना पुलिस को दे दी गई. इसके बाद मौके पर पहुंची आईपी स्टेट थाने की पुलिस ने आरोपी शख़्स को हिरासत में लिया और थाने ले गई थी. जूता मारने वाला शख़्स खुद का नाम शक्ति भार्गव बता रहा था और वह कानपुर का रहने वाला है. वहां भार्गव के परिवार का भार्गव हॉस्पिटल के नाम से अस्पताल भी है. बताया जा रहा है कि परिवार में कुछ सालों से झगड़ा चल रहा है और वह 2 साल से मां से अलग रह रहा है. परिवार ने इसे बेदखल कर रखा है. बताया जा रहा है कि किसी प्लॉट के मामले को लेकर वह परेशान चल रहा है. मानसिक हालत ठीक नहीं है. 

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त बोले, पीएम बार-बार आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं और आयोग लगातार नजरंदाज कर रहा है

9qhspgg

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हेलीकॉप्टर की कथित रूप से जांच करने वाले अधिकारी के निलंबन का मामला बढ़ता दिखाई दे रहा है. अब पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने इस मामले में बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा, 'पीएम मोदी के हेलीकॉप्टर की जांच करने वाले अफसर का निलंबन दुर्भाग्यपूर्ण तो है ही, साथ ही पीएम और चुनाव आयोग ने अपनी छवि को सुधारने का एक मौका भी गंवा दिया'. कुरैशी ने आगे कहा, 'इन दोनों संस्थाओं की जनता के प्रति जवाबदेही है, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी लगातार चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं और चुनाव आयोग इसे बार-बार नजर अंदाज कर रहा है. पीएम के हेलीकॉप्टर की जांच को इस तरीके से लिया जाना चाहिए था कि कानून सबके लिए बराबर है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ'. पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त डॉ. एसवाई कुरैशी ने आगे ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक के हेलीकॉप्टर की तलाशी का जिक्र करते हुए कहा कि, 'उन्होंने जिस धैर्य और सज्जनता परिचय दिया, वह काबिलेतारीफ है. हर नेता को वैसा ही व्यवहार करना चाहिए'. दूसरी तरफ, बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी डॉ. एसवाई कुरैशी की बातों के समर्थन में ट्वीट कर चुनाव आयोग को निशाने पर लिया. मायावती ने आयोग पर सवाल खड़े करते हुए कहा, 'चुनाव आयोग के पास ऐसा कौनसा अधिकार है जिससे पीएम के विमान की तलाशी पर रोक है व ऐसा करने पर आईएएस पर्यवेक्षक को निलम्बित कर दिया गया. बीएसपी पूर्व सीईसी  कुरैशी की बातों से सहमत है कि ऐसी कार्रवाई अनुचित है. आयोग को निष्पक्ष काम करना चाहिए ना कि पीएम मोदी को हर प्रकार की खुली छूट मिले'.

टिप्पणियां


चुनाव आयोग का बैन खत्म होते ही योगी आदित्यनाथ बोले, 'मेरी पहचान हिंदू है और...'

ifeq99r

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर दो ट्वीट किया. इसमें उन्होंने साफ-साफ शब्दों में कह दिया है कि मेरे आराध्य रामलला, बजरंग बली और महादेव जी के दर्शन को किसी भी प्रकार की राजनीति से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि आस्था का अधिकार संविधान प्रदत्त है और मुझे इस अधिकार का प्रयोग करने से कोई रोक नहीं सकता. सीएम योगी शुक्रवार को यूपी के संभल में चुनावी रैली संबोधित करने से पहले किया. इससे पहले योगी आदित्यनाथ पर विवादित बयान की वजह से चुनाव आयोग 72 घंटे पर चुनावी सभा व रोड शो पर रोक लगाया था. जिसके बाद से उन्होंने शुक्रवार को अपनी पहली चुनावी रैली संभल में की.
सीएम योगी ने ट्वीट कर लिखा, ''मेरे रग रग में राम, कण कण में कृष्ण, प्रत्येक शिरा में शिव और प्रत्येक धमनी में धर्म व कर्तव्य बोध निरंतर प्रवाहित होता रहता है. आज मैं फिर कहना चाहूंगा कि मेरी धार्मिक पहचान हिन्दू है, वह हिन्दू जो भारत मे रहने वाले सभी पंथों और धर्मों का सम्मान समान भाव से आदिकाल से करता आ रहा है.'' बता दें, साल 2014 के चुनाव में बीजेपी उत्तर प्रदेश में रिकॉर्ड मतों से जीत हासिल करते हुए 73 सीटों पर काबिज़ हुई थी. इस बार भी दावा 73 नहीं बल्कि 74 सीटों का है. लेकिन सीट दावों से नहीं, समीकरणों से मिलती है और इस दफे सपा-बसपा के गठबंधन ने बीजेपी के इस समीकरण को गड़बड़ा दिया हैं. यही वजह से सीएम योगी आदित्यनाथ ने अब दलित-यादव यानी 'DY' फॉर्मूले को तोड़ने में जुट गए हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement