अलविदा होते साल में छाया समाजवाद, सपा का फैमली ड्रामा बना अख़बारों की लीड स्टोरी

अलविदा होते साल में छाया समाजवाद, सपा का फैमली ड्रामा बना अख़बारों की लीड स्टोरी

नई दिल्ली:

आज साल 2016 हमसे विदा ले रहा है. साल के आखिरी दिन अख़बारों में 'मुलायम' की बेटे पर सख्ताई की ख़बरें प्रमुखता लिए हुए हैं. इसके अलावा 'नोटबंदी के 50 दिन', अलविदा होते साल का हिसाब-किताब और नए साल के इस्तकबाल की तैयारी में जुटे लोगों को भी अख़बारों में जगह मिली है.

'राजस्थान पत्रिका' ने अपने पहले पन्ने पर 'फैमली ड्रामा पार्ट-2' शीर्षक से समाजवादी पार्टी में मचे घमासान को प्रमुखता दी है.
 

rajasthan

प्रधानमंत्री द्वारा नए भुगतान ऐप के लॉन्च की ख़बर को कुछ इस तरह दिया है- 'अब अंगूठा ही होगा आपका बैंक'
 
rajasthan

पत्रिका ने अपने संपादकीय में जालंधर में होने वाले 'हरिबल्लभ संगीत सम्मेलन' के बारे में लिखा है- तालाब मंदिर में 141 साल पहले बाबा हरिबल्लभ ने संगीत रूपी जिस बीज को रोपा था वह आज एक वट वृक्ष बन गया है जिसके तले देश-विदेश के हज़ारों कलाकार अपनी हाजिरी लगा चुके हैं.

'नवोदय टाइम्स' ने मुलायम परिवार की कलह को समाजवादी संग्राम में बेटे की बली शीर्षक से अपनी शीर्ष ख़बर बनाया है. पत्र लिखता है कि 'पहली बार किसी मुख्यमंत्री को पिता ने किया बाहर'.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

'पंजाब केसरी' ने यूपी की महाभारत के लिए अंदर के कई पन्ने रंगे हैं. एक जगह पत्र लिखता है- 'पुर्जा-पुर्जा हुई सपा की साइकिल'. इस लेख में पत्र ने इस घटनाक्रम से अन्य राजनीति दलों पर पड़ने वाले असर को आंकड़ों के साथ पेश किया है.
 

pk
'पंजाब केसरी' ने तमाम ख़बरों के साथ झारखंड की कोयला खदान के हादसे को भी पहले पन्ने पर जगह दी है. अख़बार लिखता है- 'मिट्टी घंसने से 70 लोग दबे, 17 शव निकाले गए'.

'दैनिक भास्कर' ने पहले पन्ने पर ही अमेरिकी वैज्ञानिकों की एक खोज को बड़े ही रोचक ढंग से पेश करते हुए हैडिंग दी है- 'साबुन और बॉडी वॉश से बर्बाद हो रही लव-लाइफ.' इस में पत्र लिखता है साबुन में इस्तेमाल होने वाले केमिकल ट्राइक्लोसन इंसान की शारीरिक गतिविधियों के साथ सैक्स हार्मोंस को नुकसान पहुंचाता है.
 

db

चीन द्वारा बनाए गए दुनिया के सबसे ऊंचे पुल पर 'दैनिक भास्कर' की टिप्पणी है- 'चीन में आवागमन के लिए खुला दुनिया का सबसे ऊंचाई पर बना पुल'. अखबार के हवाले से इस पुल को बनाने में 980 करोड़ रुपये की लागत आई है और यह जमीन 1854 फीट की ऊंचाई पर बना है.
 
db

'जनसत्ता' ने अपने 'राजधानी @ 31 दिसंबर' कॉलम में  'आरबीआईः नियमबदली के 50 दिन' शीर्षक से नोटबंदी की घोषणा से लेकर 30 दिसंबर तक आरबीआई द्वारा बनाए और जारी किए गए नियमों को पेश किया है.
 
js

 'हिन्दुस्तान' अख़बार ने नए साल में नए नियमों की ख़बरों को पहले पन्ने पर जगह दी है. बकौल हिन्दुस्तान- नए साल से ट्रेन में आधार जरुरी, मोबाइल बनेगा एटीएम नामक शीर्षक ने रेलवे द्वारा बनाए नए नियमों को जगह दी है.
 
ht