Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

हरियाणा शिक्षा बोर्ड : 10वीं के रिजल्ट में टॉप करने बाद भी मिला 'डी' ग्रेड, दो कर्मचारी निलंबित

सोमवार को हरियाणा सरकार ने 10वीं के परिक्षा परिणाम घोषित किए, लेकिन रिजल्ट घोषित करने के कुछ घंटे बाद ही सरकार ने गड़बड़ी होने पर रिजल्ट को वापस ले लिया. दरअसल, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड दसवीं में टॉप छात्रों की जो सूची जारी की वह गलत थी.

हरियाणा शिक्षा बोर्ड : 10वीं के रिजल्ट में टॉप करने बाद भी मिला 'डी' ग्रेड, दो कर्मचारी निलंबित

तकनीकी खराबी के कारण सरकार को घोषित किया गया रिजल्ट रद्द करना पड़ा

खास बातें

  • पूरे राज्य में टॉप करने वाले बच्चों को भी मिला D ग्रेड
  • फतेहाबाद मोनिका रानी को 10वीं में टॉपर घोषित किया गया
  • लापरवाही बरतने के आरोप में दो कर्मचारी निलंबित किए गए
चंडीगढ़:

सोमवार को हरियाणा सरकार ने 10वीं के परिक्षा परिणाम घोषित किए, लेकिन रिजल्ट घोषित करने के कुछ घंटे बाद ही सरकार ने गड़बड़ी होने पर रिजल्ट को वापस ले लिया. दरअसल, हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड दसवीं में टॉप छात्रों की जो सूची जारी की वह गलत थी. गलत नाम घोषित होने पर सरकार और छात्रों, दोनों को असहज स्थिति का सामना करना पड़ा. हालांकि बाद में इस गलती को सुधार लिया गया. इस संबंध में दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है. बाद में सुधार करके रिजल्ट को दोबारा घोषित किया गया. 

अधिकारियों के मुताबिक कंप्यूटर से जुड़ी गड़बडी के कारण ऐसा हुआ. बताया गया कि कंप्यूटर तकनीकी खराबी के कारण 100 अंकों को दो डीजीट में दिया जा रहा था, जिसके कारण 100 अंक हासिल करने वाले टॉपर को डी ग्रेड दिया गया. 
राज्य शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष जगबीर सिंह ने बताया कि इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में दो कर्मचारियों को निलंबित किया गया है. उन्होंने बताया कि रिजल्ट को ठीक करके दोबारा घोषित किया गया. 

विद्यार्थी अपना रिजल्ट बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट bseh.org.in पर देख सकते हैं. इस साल के परीक्षा परिणाम उत्साहजनक नहीं रहे हैं और प्राय: परीक्षा देने वाला हर दूसरा छात्र उतीर्ण नहीं हो सका है. इस बार कुल 50.49 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए हैं. इनमें से 55.30 फीसदी लड़कियां पास हुई और 46.52 फीसदी लड़के. 


(इनपुट भाषा से भी)