ट्रैक्‍टर रैली: हिंसा मामले में राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत 6 किसान नेताओं के खिलाफ FIR

Farmer's Rally Violence: नांगलोई थाने में जो FIR दर्ज है उसमें न सिर्फ डकैती की धारा लगाई गई है बल्कि उन 40 किसान नेताओं के नाम भी FIR में शामिल हैं जो सरकार के साथ वार्ता के लिए विज्ञान भवन जाते थे.

ट्रैक्‍टर रैली: हिंसा मामले में राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत 6 किसान नेताओं के खिलाफ FIR

Farmer's Protest in Delhi: दर्ज एफआईआर में किसान नेता राकेश टिकैत का नाम भी शामिल है

नई दिल्ली:

Farmers' Rally Violence: गणतंत्र दिवस पर किसानों की ओर से निकाली गई ट्रैक्‍टर (Tractor Rally) रैली के दौरान दिल्‍ली में हुई हिंसा के मामले में  किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) समेत छह किसान नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. नांगलोई थाने में जो FIR दर्ज है उसमें न सिर्फ डकैती की धारा लगाई गई है बल्कि उन 40 किसान नेताओं के नाम भी FIR में शामिल हैं जो सरकार के साथ वार्ता के लिए विज्ञान भवन जाते थे. इसी FIR में योगेंद्र यादव (Yogendra Yadav) का भी नाम है.

संयुक्‍त किसान मोर्चा ने कहा, 'हिंसा के लिए हम जिम्‍मेदार नहीं, जिन्‍होंने बैरिकेड तोड़े वे पन्‍नू ग्रुप के सदस्‍य'

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने 50 से ज्यादा लोगों को इस मामले में गिरफ्तार भी कर लिया है. नांगलोई पुलिस ने FIR में डकैती की धारा इसलिए जोड़ी है क्योंकि कुछ उपद्रवी नांगलोई में पुलिस से आंसू गैस के करीब 150 गोले भी छीन ले गए थे. इसके अलावा भी अलग अलग FIR में कई किसान नेताओं के नाम हैं.

'क्या सरकार किसानों से आगे भी करेगी बात?' इस सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने दिया यह जवाब..

गौरतलब है कि किसान संगठनों की ओर से गणतंत्र दिवस पर निकाली गई ट्रैक्‍टर रैली के दौरान लाल किला, नांगलोई सहित कई इलाकों में किसानों और पुलिस के बीच जोरदार झड़प हुई थी. किसानों ने बसों और पुलिस वाहन में तोड़फोड़ की. सरकारी वाहनों में भी उन्‍होंने तोड़फोड़ की, लाठियां चलाईं और पुलिस बल पर पथराव किया. हालात को काबू करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज, वाटर कैनन और आंसू गैस का इस्‍तेमाल करना पड़ा था. हिंसा में बड़ी संख्‍या में पुलिसकर्मी घायल हुए थे.


दिल्ली में हालात बेकाबू, लालकिले पर फहराया किसान संगठन का झंडा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com