NDTV Khabar

तकनीकी खराबी के चलते मुंबई सेंट्रल रेलवे सेवाएं प्रभावित, लोगों का पथराव, पुलिस का लाठीचार्ज

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुंबई: महाराष्ट्र में मुंबई की सेंट्रल रेलवे की सेवाएं प्रभावित हुई हैं। इस रूट पर समस्या इसलिए आई, क्योंकि ठकुराली के पास ओवर हेड वायर टूट गई। इसकी वजह से मुंबई जाने वाली ट्रेनें प्रभावित हुई, जिसके बाद लोगों ने जमकर हंगामा और पत्थरबाजी की। हंगामा इतना अधिक हो गया कि दीवा रेलवे स्टेशन पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। बताया जा रहा है कि लोगों के पथराव में ट्रेन का मोटरमैन भी जख्मी हुआ है।

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट करके कहा है कि सेंट्रल रेलवे पर यात्रियों को हुई दिक्कत काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। मैंने जीएम से लोगों की परेशानियों को तत्काल दूर करने को कहा है।

वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने ट्वीट करके कहा है कि लोकल ट्रेनों के बाधित होने के बाद मैंने गृहराज्यमंत्री रंजीत पाटिल से कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए तत्काल कदम उठाने को कहा।


उधर, दीवा स्टेशन के बाहर लोगों ने पुलिस की गाड़ी जलाने की कोशिश की, इस आगजनी में दो निजी गाड़ियां जल गई हैं। रेलवे स्टेशन पर हुए इस हंगामे के बाद नासिक हाइवे पर डोंबिवली के पास लंबा जाम लग गया।

सुबह करीब सवा नौ बजे यात्रियों ने दीवा स्टेशन पर ‘रेल रोको’ अभियान चलाया और बड़ी संख्या में यात्री पटरियों पर एकत्र हो गए। कई यात्रियों को पटरियों पर चल कर डोंबिवली स्टेशन की ओर जाते देखा गया। सेंट्रल लाइन पर डोंबिवल स्टेशन की टिकट खिड़की तोड़ दी गई और स्वचालित टिकट विक्रेता मशीनों (एटीवीएम) को पटरियों पर फेंक दिया गया।

पुलिस ने पटरियों पर एकत्र प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया।

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया, यात्रियों ने सुबह साढ़े आठ बजे से दीवा और मुंब्रा के बीच सभी चारों लाइनों पर धरना दिया, जिसके कारण हम ट्रेनें नहीं चला सके। सुबह तो बिजली की आपूर्ति में दिक्कत थी, लेकिन बाद में यह ठीक हो गया। भाजपा प्रवक्ता माधव भंडारी ने बताया कि फडणवीस ने पाटिल से ठाणे जाने और स्थिति का जायजा लेने को कहा है।

भंडारी ने बताया, प्रभु ने रेलवे अधिकारियों से बात की। मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों से बात की है। उन्होंने बताया, फडणवीस ने अधिकारियों को बल प्रयोग या लाठीचार्ज न करने तथा सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए मदद करने का निर्देश दिया है। हिंसक प्रदर्शन के बाद हार्बर और सेंट्रल लाइन के मोटरमैन ने हड़ताल का आह्वान कर दिया, जिससे मुंबई की जीवनरेखा जैसे ठहर-सी गई।

रेलवे के एक जनसंपर्क अधिकारी ने बताया, प्रदर्शन हिंसक होने पर कुछ मोटरमैन भी घायल हो गए। इसके बाद सेंट्रल लाइन और हार्बर लाइनों के मोटरमैन ने काम रोकने का फैसला किया, लेकिन रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के आश्वासन के बाद हड़ताल वापस ले ली गई।

(इनपुट्स भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement