NDTV Khabar

तीन तलाक बिल: हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही दो जनवरी तक के लिए स्थगित

राज्यसभा में तीन तलाक बिल को बिल को लेकर पूरे दिन हंगामा होता रहा, इसके बाद सदन को स्थगित करने का फैसला लिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तीन तलाक बिल: हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही दो जनवरी तक के लिए स्थगित

विपक्षी दल बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग कर रहे थे.

खास बातें

  1. संसद का ऊपरी सदन 2 जनवरी तक के लिए स्थगित
  2. विपक्षी दल कर रहे थे सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने की मांग
  3. हंगामे की भेट चढ़ा पूरा दिन
नई दिल्ली:

तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill)  सोमवार को भी राज्यसभा (Rajya Sabha) में पेश नहीं किया जा सका. सदन में हंगामे के बाद राज्यसभा को 2 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. सोमवार सुबह सदन की कार्यवाही की शुरुआत के 15 मिनट बाद ही सदन को दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया था. इसके बाद दो बजे कार्यवाही शुरू हुई और सदन को फिर 2.25 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया. फिर तीसरी बार राज्यसभा की कार्यवाही 2 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दी गई.

कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी दल तीन तलाक बिल को प्रवर समिति के पास भेजने की मांग कर रहे हैं. वहीं सत्तारूढ़ भाजपा और कांग्रेस ने व्हिप जारी करके अपने-अपने सदस्यों से सोमवार को ऊपरी सदन में उपस्थित रहने को कहा है. अन्य दलों ने भी अपने सांसदों से यह विधेयक सदन में पेश करने के दौरान उपस्थित रहने को कहा है.

तीन तलाक बिल: मोदी सरकार और विपक्षी एकता के कड़े इम्तिहान में 39 सांसद तय करेंगे नतीजे, जानें- सदन का समीकरण


Triple Talaq Bill  Updates:-

- हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही 2 जनवरी तक के लिए स्थगित

- 2.25 बजे तक के लिए फिर स्थगित हुई राज्यसभा

- तृणमूल कांग्रेस के सांसद डेरेक ओ'ब्रायन ने राज्यसभा में कहा, "सभी विपक्षी दलों ने सर्वसम्मति से फैसला किया है कि ट्रिपल तलाक बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजना होगा..."

- राज्यसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू. सदन में हंगामा अभी भी जारी है. 

- ट्रिपल तलाक बिल को राज्यसभा में पेश किए जाने को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, "पार्टी अपना रुख पहले ही स्पष्ट कर चुकी है..."

- ट्रिपल तलाक बिल को राज्यसभा में पेश किए जाने को लेकर बीजू जनता दल (BJD) नेता प्रसन्न आचार्य ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट ने जो भी फैसला दिया, हम उससे सहमत हैं... बिल को पारित होना चाहिए, लेकिन बिल में कुछ खामियां हैं, जिन्हें दूर किया जाना चाहिए... हम बिल को जल्द से जल्द पारित करवाना चाहते हैं, लेकिन सुधार के बाद..."

- जम्मू एवं कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा है, "ट्रिपल तलाक बिल लाकर वे (BJP) हमारे घरों में घुस रहे हैं... इससे हमारा पारिवारिक जीवन बिगड़ेगा, और इसके अलावा आर्थिक रूप से महिलाओं तथा पुरुषों के लिए ज़्यादा समस्याएं सामने आएंगी... मैं खुद भी टूटी हुई शादी से गुज़री हूं, और मेरा मानना है कि महिलाओं को शादी टूट जाने के बाद आर्थिक रूप से सबसे बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ता है... जब हम मुस्लिमों के लिए आरक्षण की बात करते हैं, तब BJP उसे धार्मिक आधार पर खारिज कर देती है, लेकिन जब इस तरह के कानून की बात आती है, वे संसद चले जाते हैं..."

- नए वर्ष के मौके पर राज्यसभा में एक जनवरी को अवकाश रहेगा और इसकी घोषणा सोमवार को सुबह उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर की गई. उपसभापति हरिवंश ने सदन में सदस्यों की सहमति से एक जनवरी को अवकाश की घोषणा की. साथ ही उन्होंने सदस्यों से शीतकालीन सत्र के महज पांच कार्यदिवस शेष रहने का हवाला देते हुये सोमवार को सदन की बैठक सुचारु रूप से चलने देने का अनुरोध किया. 

- भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) नेता डी राजा ने ट्रिपल तलाक बिल को लेकर कहा, "बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए... बिल से ट्रिपल तलाक को अपराध बताने का प्रावधान हटाया जाए..."

- ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कषगम (AIADMK) के मुख्य सचेतक वी. सत्यनन ने NDTV से बातचीत में कहा, "हम मांग करते हैं कि ट्रिपल तलाक बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजा जाए... मौजूदा बिल का दुरुपयोग किया जा सकता है, क्योंकि इसमें ट्रिपल तलाक को अपराध बनाने की कोशिश की गई है..."

- समाचार एजेंसी PTI के अनुसार, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की किसानों के लिए कर्ज़ माफी की योजना को प्रधानमंत्री द्वारा 'सबसे निर्मम चुटकुलों में से एक' बताया जाना 'राजनैतिक लाभ' के लिए देश को गुमराह करना है.

- तीन तलाक बिल को धर्मनिरपेक्षता और राष्ट्रीय अखंडता के लिए एक खतरा बताते हुए चंद्र बाबू नायडू ने बीजेपी और मोदी सरकार पर सवाल खड़े किए. उन्होंने अपील की है कि सभी विपक्षी दलों को एकजुट होकर बीजेपी के मुस्लिम विरोधी रवैये के खिलाफ लड़ना चाहिए

टिप्पणियां

- कई विपक्षी दल सोमवार की सुबह विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के चैंबर में मुलाकात करके इस मुद्दे पर सदन की अपनी रणनीति पर चर्चा करते नजर आए.  

VIDEO- राज्यसभा में पेश होगा तीन तलाक बिल, सरकार के लिए आसान नहीं राह



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement