NDTV Khabar

एक बार फिर बोले बिप्लब देब, 'सरकारी नौकरी के लिए नेताओं के पीछे नहीं भागें, पान की दुकान खोलें'

शनिवार को सीएम बिप्लब देब ने राज्य के युवाओं, विशेष रूप से शिक्षित वर्ग के युवाओं को सरकारी नौकरियों के लिए राजनेताओं के पीछे नहीं भागने का सुझाव दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एक बार फिर बोले बिप्लब देब, 'सरकारी नौकरी के लिए नेताओं के पीछे नहीं भागें, पान की दुकान खोलें'

त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बिप्लब देब एक बार फिर सोशल मीडिया में छाए हैं.
  2. इस बार उन्होंने पान की दुकान खोलने की सलाह दी है.
  3. उन्होंने राजनेताओं के पीछे भागने से मना किया है.
अगरतला: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब अपने बयानों को लेकर लगातार मीडिया में छाये हुए हैं. एक के बाद एक वह ऐसे अजीबोगरीब बयान दे रहे हैं, जिसकी वजह से सोशल मीडिया में भी काफी चर्चा में हैं. इस बार सीएम बिप्लब देब ने युवाओं को नौकरियों के बदले पान की दुकान खोलने की सलाह दी है. शनिवार को सीएम बिप्लब देब ने राज्य के युवाओं, विशेष रूप से शिक्षित वर्ग के युवाओं को सरकारी नौकरियों के लिए राजनेताओं के पीछे नहीं भागने का सुझाव तो दिया, मगर लगे हाथ पान की दुकान खोलने की भी सलाह दे डाली. उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि इससे अच्छा है कि प्रधानमंत्री के मुद्रा योजना के तहत बैंक से लोन लेकर पशु संसाधन क्षेत्र के विभिन्न परियोजनाओं को शुरू करके स्वयं रोजगार का सृजन करें.

अब त्रिपुरा CM बिप्लब देब ने मैकेनिकल इंजीनियर्स को दी सलाह, कहा यह..

बिप्लब देब ने कहा कि 'युवा कई सालों तक राजनीतिक दलों के पीछे सरकारी नौकरी के लिए पड़े रहते हैं. वह अपने जीवन का महत्वपूर्ण समय यहां-वहां दौड़-भाग कर सरकारी नौकरी की तलाश में बर्बाद करते हैं. मगर वही युवा सरकारी नौकरी तलाश करने के लिए राजनीतिक पार्टियों के पीछे भागने की बजाय पान की दुकान लगा ले तो उसके बैंक खाते में अब तक 5 लाख रुपए जमा होते.'

गौरतलब है कि उन्होंने प्रज्ञा भवन में त्रिपुरा वेटेरनरी परिषद द्वारा आयोजित सेमिनार  'आजीविका, खाद्य सुरक्षा और सुरक्षा में सुधार के लिए सतत विकास में पशु चिकित्सा पेशे की भूमिका पर'  संबोधन के दौरान यह बातें कहीं. 

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने डायना हेडन से जुड़ी टिप्पणी के लिए खेद जताया

टिप्पणियां
इससे पहले उन्होंने एक और बयान में कहा था कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि वाले लोगों को सिविल सेवाओं का चयन नहीं करना चाहिए. देब ने प्रज्ञा भवन में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘मैकेनिकल इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि वाले लोगों को सिविल सेवाओं का चयन नहीं करना चाहिए. समाज का निर्माण करना है. सिविल इंजीनियरों के पास यह ज्ञान है क्योंकि जो लोग प्रशासन में हैं उनको समाज का निर्माण करना है.’

VIDEO: त्रिपुरा के सीएम बिप्लब देब अपने बयान पर कायम


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement