NDTV Khabar

सुषमा स्वराज के समर्थन में आए गृह मंत्री राजनाथ सिंह, कहा - ट्रोल करना गलत है

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्रोल करना गलत है. राजनाथ एकमात्र ऐसे मंत्री हैं जो सुषमा के समर्थन में बोले हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुषमा स्वराज के समर्थन में आए गृह मंत्री राजनाथ सिंह, कहा - ट्रोल करना गलत है

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्रोल करना गलत है. राजनाथ एकमात्र ऐसे मंत्री हैं जो सुषमा के समर्थन में बोले हैं. सुषमा एक अंतरधर्मी दंपति को पासपोर्ट जारी कराने और इससे संबंधित विवाद में लखनऊ स्थित पासपोर्ट सेवा केंद्र के अधिकारी विकास मिश्रा के तबादले के बाद से आक्रामक ट्वीटों का सामना कर रही हैं.

यह भी पढ़ें : ट्रोल होने के बाद फूटा सुषमा स्वराज का गुस्सा, पूछा यह सवाल...

मुद्दे पर टिप्पणी के लिए कहे जाने पर राजनाथ ने यहां पत्रकारों से कहा, 'मेरे हिसाब से यह गलत है.' सुषमा ने कुछ आक्रामक ट्वीटों को रीट्वीट किया था. उन्होंने टि्वटर पर एक सर्वेक्षण भी कराया था और इस मंच का इस्तेमाल करने वालों से पूछा था कि क्या वे इस तरह की ट्रोलिंग को 'स्वीकार' करते हैं. इस पर 43 प्रतिशत लोगों ने 'हां' में और 57 प्रतिशत लोगों ने 'ना' में जवाब दिया था.
 

Friends : I have liked some tweets. This is happening for the last few days. Do you approve of such tweets ? Please RT

— Sushma Swaraj (@SushmaSwaraj) June 30, 2018

pic.twitter.com/OIwVL02uoU

— Governor Swaraj (@governorswaraj) June 30, 2018

बता दें कि कई दिन तक चली ट्रोलिंग के बाद मामला तब आगे बढ़ गया जब सुषमा के पति ने एक टि्वटर यूजर के एक पोस्ट का स्क्रीनशॉट ट्वीट किया जिसमें उनसे कहा गया है कि वह 'उनकी (सुषमा) पिटाई करें और उन्हें मुस्लिम तुष्टीकरण न करने की बात सिखाएं.' अंतरधर्मी दंपति को कथित तौर पर अपमानित करने के मामले में लखनऊ स्थित पासपोर्ट सेवा केंद्र के अधिकारी विकास मिश्रा के तबादले के प्रकरण में अपने खिलाफ किए जा रहे अपमानजनक ट्वीट में से कुछ को सुषमा रीट्वीट कर रही हैं.

सुषमा ने टि्वटर सर्वेक्षण शुरू किया और लोगों से पूछा कि क्या इस तरह की ट्रोलिंग उचित है. उन्होंने ट्वीट किया, 'मित्रो मैंने कुछ ट्वीट लाइक किए हैं. यह पिछले कुछ दिन से हो रहा है. क्या आप ऐसे ट्वीट को स्वीकृति देते हैं ?' 
 

Your words have given us unbearable pain. Just to share with you, my mother died of cancer in 1993. Sushma was an MP and a former Education Minister. She lived in the hospital for a year. She refused to engage a medical attendant and attended on my dying mother personally. /1 https://t.co/b4iwIUx0SA

— Governor Swaraj (@governorswaraj) July 1, 2018

Such was her devotion to the family. As per my father's wish, she lit my father's pyre. We adore her. Please do not use such words for her. We are first generation in law and politics. We pray for nothing more than her life. Pls convey my profound regards to your wife. /2

— Governor Swaraj (@governorswaraj) July 1, 2018

वहीं, अपनी पत्नी पर मुस्लिम तुष्टीकरण का आरोप लगाने वाले व्यक्ति को जवाब देते हुए सुषमा के पति ने कहा कि इस तरह के शब्दों ने उनके परिवार को असहनीय दुख दिया है. सुषमा के पति स्वराज कौशल ने ट्वीट किया, 'आपके शब्दों ने हमें असहनीय दुख दिया है. आपको एक बात बता रहा हूं कि मेरी मां का 1993 में कैंसर से निधन हो गया. सुषमा एक सांसद और पूर्व शिक्षा मंत्री थीं. वह एक साल तक अस्पताल में रहीं. उन्होंने मेडिकल अटेंडेंट लेने से मना कर दिया और मेरी मरती मां की खुद देखभाल की.'

VIDEO: रणनीति : बढ़ रही है धार्मिक कट्टरता ?


टिप्पणियां
सुषमा को ट्वीट के जरिए निशाना बनाने वाले व्यक्ति को जवाब देते हुए जाने माने वकील ने कहा, 'परिवार के प्रति उनका (सुषमा) इस तरह का समर्पण है. मेरे पिता की इच्छा के अनुरूप उन्होंने (सुषमा) मेरे पिता की चिता को मुखाग्नि दी. कृपया उनके लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल न करें. हम कानून और राजनीति में पहली पीढ़ी हैं. हम उनके जीवन से ज्यादा किसी और चीज के लिए प्रार्थना नहीं करते. कृपया अपनी पत्नी को मेरी ओर से अगाध सम्मान से अवगत कराएं.' विदेश मंत्री ने भी उस व्यक्ति के कुछ ट्वीट को री-ट्वीट किया था.

(इनपुट : भाषा)
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement