NDTV Khabar

पुलिस में शिकायत दर्ज कराने आए किसानों को बेकाबू ट्रक ने कुचला; 14 की मौत, 24 घायल

61 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलिस में शिकायत दर्ज कराने आए किसानों को बेकाबू ट्रक ने कुचला; 14 की मौत, 24 घायल

खास बातें

  1. रेत की तस्करी को बंद करने की मांग को लेकर मंगलपालेम गांव के किसान थाने आए
  2. कई किसानों की मौत बिजली का तार गिरने पर झुलसने के कारण हुई
  3. सरकार मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की सहायता राशि देगी
विजयवाड़ा: आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में शुक्रवार को एक बेकाबू ट्रक की चपेट में आने से दुकानों के बाहर खड़े ग्रामीणों में से 14 की मौत हो गई और 24 अन्य घायल हो गए। तिरुपति शहर से लगभग 30 किलोमीटर दूर, एक तेज रफ्तार ट्रक पहले एक बिजली के खंभे से टकराया। इसके बाद इसने यरपादू में पुतालापट्ट-नायडूपेटा मार्ग पर स्थित दुकानों को रौंद दिया।

पुलिस ने बताया कि यरपादू पुलिस थाने के पास यह हादसा हुआ. उस वक्त पुलिस थाने आ रहे गांव वालों का एक समूह दुकानों के पास खड़ा था. इसी दौरान यह हादसा हुआ. कुछ गांवों के लोग स्वर्णमुखी नदी से अवैध खनन की शिकायत करने पुलिस थाने आए थे.

तिरुपति शहर की पुलिस अधीक्षक आर. जयालक्ष्मी ने कहा कि ज्यादातर लोग बिजली का करंट लगने के कारण मारे गए. घायलों को तिरुपति के रुइया अस्पताल और श्री वेंकटेश्वरा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिक साइंसेज (एसवीआईएमएस) और श्रीकालहस्ती के सीएचसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घायलों में छह की हालत गंभीर है.

जयालक्ष्मी ने कहा कि एक सर्किल निरीक्षक, एक पुलिस उप निरीक्षक और कांस्टेबल घायलों में शामिल हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा माना जा रहा है कि गाड़ी चालक के नियंत्रण से बाहर हो गई लेकिन दुर्घटना के निश्चित कारण की जांच की जा रही है।

ट्रक ने बिजली के खंभे से टकराने के पहले दस दोपहिया, दो ऑटो रिक्शा और एक पुलिस वाहन को कुचल दिया. इस हादसे में चालक और क्लीनर बच गए.

आंध्र प्रदेश सरकार ने मारे गए लोगों के परिवार को 5 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू ने अधिकारियों को दुर्घटना में घायल लोगों को बेहतर इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं.

(इनपुट आईएएनएस से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement