NDTV Khabar

गौरी लंकेश की हत्या पर राहुल गांधी ने कहा, 'सच्चाई को कभी खामोश नहीं किया जा सकता'

हिंदुत्ववादी राजनीति के खिलाफ खुलकर विचार जाहिर करने वाली गौरी लंकेश की उनके घर पर अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गौरी लंकेश की हत्या पर राहुल गांधी ने कहा, 'सच्चाई को कभी खामोश नहीं किया जा सकता'

पत्रकार गौरी लंकेश की फाइल तस्वीर

खास बातें

  1. गौरी लंकेश की हत्या की चौतरफा कड़ी निंदा हो रही है
  2. राहुल ने कहा- सच्चाई को खामोश नहीं कर सकते
  3. कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया बोले- यह लोकतंत्र की हत्या
नई दिल्ली:

बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की चौतरफा कड़ी निंदा हो रही है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने राहुल ने ट्वीट कर कहा, 'सच्चाई को कभी खामोश नहीं जा सकता. गौरी लंकेश हमारे दिलों में बसती हैं. मेरी संवेदनांए और प्यार उनके परिवार के साथ हैं. दोषियों को सजा मिलनी चाहिए.' कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा, जानी-मानी पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बारे में जानकर स्तब्ध हूं. इस जघन्य अपराध की निंदा करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. ये लोकतंत्र की हत्या है. उनके निधन से कर्नाटक ने एक मजबूत प्रगतिशील आवाज खो दी है और मैंने एक दोस्त खो दिया है.

यह भी पढ़ें: बिहार के समस्तीपुर में पत्रकार की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या


टिप्पणियां

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल, केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी महिला पत्रकार की हत्या पर शोक व्यक्त किया. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया, 'गौरी की हत्या उन लोगों को चुप कराने का प्रयास है, जो विपरीत विचार रखते हैं. यह दुर्भाग्यपूर्ण है.' केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पत्रकार की हत्या पर शोक व्यक्त किया है. दिल्ली में प्रेस क्लब ऑफ इंडिया और विमन्स प्रेस क्लब (आईडब्ल्यूपीसी) ने वरिष्ठ पत्रकार गौरी की हत्या की कड़े शब्दों में निंदा की है.

VIDEO : बेंगलुरु में वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पत्रकार हत्या मामले को 'बेहद दुर्भाग्यपूर्ण' और 'खतरनाक' करार दिया. हिंदुत्ववादी राजनीति के खिलाफ खुलकर विचार जाहिर करने वाली वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की मंगलवार को राज राजेश्वरी इलाके में उनके घर के पर अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी. गौरी कन्नड़ टैब्लॉयड ‘गौरी लंकेश पत्रिका’ का संपादन करती थीं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement