NDTV Khabar

न शशिकला, न पन्नीरसेल्वम, यह हैं तमिलनाडु के 'मुख्यमंत्री' बनने के असली हकदार!

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
न शशिकला, न पन्नीरसेल्वम, यह हैं तमिलनाडु के 'मुख्यमंत्री' बनने के असली हकदार!

शशिकला और पन्नीरसेल्वम के बीच सत्ता को लेकर खींचतान जारी है

खास बातें

  1. शशिकला और पन्नीरसेल्वम के बीच सरकार बनाने को लेकर खींचतान जारी
  2. ट्विटर पर पन्नीरसेल्वम और शशिकला की रणनीति पर तंज कसा जा रहा है
  3. शशिकला, राज्यपाल के न्यौते का इंतजार कर रही हैं
चेन्नई:

तमिलनाडु में शशिकला बनाम पन्नीरसेल्वम की लड़ाई जोरशोर से चल रही है. कुछ समय पहले तक जहां ऐसा लग रहा था कि शशिकला और सीएम पद के बीच कोई रुकावट नहीं है, वहीं पिछले एक हफ्ते के घटनाक्रम की वजह से तमिलनाडु की राजनीति में एक दिलचस्प ट्विस्ट देखने को मिला. पिछले रविवार पन्नीरसेल्वम ने चुपचाप इस्तीफा दे दिया था और बताया गया कि खुद उन्होंने ही शशिकला के नाम का प्रस्ताव रखा था. लेकिन अगले दिन बात कहीं और ही पहुंच गई और पन्नीरसेल्वम ने यहां तक कह दिया कि उन्हें इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया गया था.

वो दिन था और आज का दिन है, एक हफ्ता बीत गया है लेकिन तमिलनाडु के सीएम पद की कुर्सी अपने अगले मालिक की बाट जोह रही है. इस बीच ट्विटर वही कर रहा है जो उसे करना चाहिए, पन्नीरसेल्वम और शशिकला को लेकर अपनी अपनी राय रखी जा रही है और जरूरत पड़ने पर कुछ दिलचस्प चुटकुले भी हाजिर किए जा रहे हैं. मसलन यह ट्वीट जिसमें लिखा गया है कि अब गोल्डन बे रिज़ोर्ट के मालिक ने सरकार बनाने का दावा किया है क्योंकि उसका कहना है कि 130 एमएलए अब उसके पास हैं.

मसलन यह ट्वीट जिसमें लिखा गया है कि 'अब गोल्डन बे रिज़ोर्ट के मालिक ने सरकार बनाने का दावा किया है क्योंकि उसका कहना है कि 130 एमएलए अब उसके पास हैं. इसलिए सीएम तो उन्हें ही बनना चाहिए.'
 


गौरतलब है कि बुधवार को शशिकला द्वारा AIADMK विधायकों को बसों में भरकर गोल्डन बे समेत अलग अलग होटलों में नजरबंद करके रखा गया है ताकि विरोधी उन्हें ढूंढकर अनाधिकार रूप से अपनी ओर खींचने की कोशिश न कर सकें. हालांकि इस कदम पर सवालिया निशान लगाए गए हैं. इस बीच धीरे धीरे शशिकला के गुट से विधायक पन्नीरसेल्वम की तरफ आ रहे हैं. इस पर किसी ने लिखा है कि पन्नीरसेल्वम फिलहाल नोटबंदी झेल रहे हैं. इसलिए वह एक बार में सिर्फ एक ही एमएलए को विड्रॉ कर पा रहे हैं.

इस बीच धीरे धीरे शशिकला के गुट से विधायक पन्नीरसेल्वम की तरफ आ रहे हैं. इस पर किसी ने लिखा है कि पन्नीरसेल्वम फिलहाल नोटबंदी झेल रहे हैं. इसलिए वह एक बार में सिर्फ एक ही एमएलए को विड्रॉ कर पा रहे हैं.

टिप्पणियां

 


इसके अलावा और भी कई दिलचस्प ट्वीट हैं जिन्हें देखकर तमिलनाडु की राजनीति की मौजूदा स्थिति का पता चल पाता है.
   

 तमिलनाडु के मौजूदा हाल पर आपका क्या विचार है, नीचे कमेंट बॉक्स में बताइए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement