सदस्यता रद्द करने के नोटिस पर कपिल मिश्रा और सौरभ भारद्वाज के बीच ट्विटर पर छिड़ी जंग

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में अपने दो बागी विधायकों को विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराने का स्पीकर से अनुरोध किया था.

सदस्यता रद्द करने के नोटिस पर कपिल मिश्रा और सौरभ भारद्वाज के बीच ट्विटर पर छिड़ी जंग

कपिल मिश्रा सदस्यता रद्दीकरण का नोटिस मिलने के बाद मंगलवार को विधानसभा में पेश हुए.

नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा की सदस्यता रद्द करने के नोटिस पर उनके और आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज के बीच ट्विटर पर जंग छिड़ गई है. कपिल को नोटिस मिलने के बाद मंगलवार को सौरभ ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि कपिल मिश्रा को अपनी सीट खोने का डर सता रहा है.  इसके बाद कपिल ने भी जवाब देते हुए भारद्वाज के साथ सीएम केजरीवाल पर भी हमला बोला है.  

कपिल मिश्रा ने आतिशी को दी सलाह- 'आंसू बचाकर रखें, हारने के बाद पता चलेगा केजरीवाल ने पर्दे के पीछे...'

सौरभ भारद्वाज ने ट्विटर पर लिखा, 'भाषण अपने घर पर ख़ूब सुनाना, कल स्पीकर साहेब को इतना बता देना कि तुम्हारे फेस्बुक पर जो विडीओ है, जो ट्ट्विटर पर विडीओ है,वो सही हैं. तुम उसपर कायम हो. बस इतने में आपकी विधायकी गई. डरना मत,कल आकर यही बोल देना बस. विधानसभा में मैंने तुम्हें व्हिप की ताक़त दिखाई है, याद है ना?'  

इसके बाद कपिल मिश्रा ने उनके ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, 'पेचकस बाबू - डरपोक केजरीवाल से कह दो हिम्मत हैं तो मीडिया के कैमरों के सामने सुनवाई कर लो. केजरीवाल को मुंह छिपाने की जगह नहीं मिलेगी. डरकर भागना मत, मेरा बयान होने देना और मेरे गवाहों को आने देना विधानसभा में, इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि आंदोलन की हत्या का हिसाब होगा इस मुकदमें में.'

Newsbeep

कपिल मिश्रा का कहना है कि उनके खिलाफ केस की सुनवाई में विधानसभा अध्यक्ष ने बंद कमरें में सुनवाई का आदेश देते हुए मीडिया की एंट्री को बैन कर दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें दिए गए 41 पन्नों के नोटिस में सिर्फ 10 पन्ने ही हैं और 31 पन्ने गायब हैं. उन्होंने कहा कि वे केजरीवाल के हर घोटाले को तथ्य के साथ विधानसभा में रखेंगे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें हाल ही में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में अपने दो बागी विधायकों को विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराने का स्पीकर से अनुरोध किया था. दरअसल चांदनी चौक से आप विधायक अलका लांबा और करावल नगर से कपिल मिश्रा पिछले काफी समय से पार्टी और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अपना मोर्चा खोले हुए हैं.