NDTV Khabar

बोर वैल में माही : ढूंढा जा रहा है दूसरा रास्ता

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. बुधवार से बोर वैल में फंसी माही ज़िंदगी की जंग लड़ रही है। उम्मीद जताई जा रही है के किसी भी वक्त माही को 60 फुट गहरे बोर वैल से बाहर निकाला जा सकता है।
गुड़गांव:

बुधवार से बोर वैल में फंसी माही ज़िंदगी की जंग लड़ रही है। उम्मीद जताई जा रही है के किसी भी वक्त माही को 60 फुट गहरे बोर वैल से बाहर निकाला जा सकता है।

अधिकारियों का कहना है कि माही और बचाव दल के बीच बस अब एक पत्थर है जिसे तोड़ने का काम चल रहा है और जल्द ही माही को निकाल लिया जाएगा।

माही को बचाने के लिए एक सुरंग बनाई गई है लेकिन माही तक पहुंचने के रास्ते में पत्थर आ गया है। इसे काटने में काफी परेशानी आ रही है। अब दूसरे रास्ते से उस तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है। सेना और ज़िला प्रशासन की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है।

इससे पहले, इस बोर वैल के समानांतर हुई खुदाई में से सुरंग के जरिए बोर वैल में पहुंचने का मार्ग खोला गया, लेकिन बीच में पत्थरों के होने के वजह से माही तक पहुंचने में परेशानी आ रही है। इन पत्थरों को बेहद सावधानी से हटाया जा रहा है, ताकि माही को कोई चोट नहीं पहुंचे। बोर वैल में माही के लोकेशन का भी पता चल गया है, लेकिन उसके शरीर में कोई गतिविधि नजर नहीं आई है। मौके पर डॉक्टरों की टीम भी मौजूद है।

टिप्पणियां

उधर, हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने कहा कि बच्ची को सुरक्षित निकालने के प्रयास जारी हैं और बोर वैल नहीं ढकने के जिम्मेदार व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है।


गुड़गांव के खोव गांव में हुए इस हादसे के बाद सेना, दमकल विभाग, पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के 100 से भी अधिक लोग इस अभियान में जुटे हुए हैं। खुदाई के काम में गुड़गांव रैपिड मेट्रो की भी एक टीम को लगाया गया है। गौरतलब है कि यह बच्ची 20 जून की रात को अपने जन्मदिन की पार्टी के दौरान खेलते हुए इस बोर वैल में गिर गई थी।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement