जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकवादी मारे गए

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में शुक्रवार को सुबह लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गए.

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकवादी मारे गए

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गए.

श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में शुक्रवार को सुबह लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी मारे गए. पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर में अनंतनाग जिले के सिरहामा में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना पर बृहस्पतिवार शाम को इलाके की घेराबंदी की गई और तलाश अभियान शुरू किया गया.

उन्होंने बताया कि तलाश अभियान के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं, जिसके बाद बलों ने जवाबी कार्रवाई की और मुठभेड़ शुरू हो गई. अधिकारी ने बताया कि इलाके में रात भर कड़ी घेराबंदी रखी गई, ताकि आतंकवादी बच कर भाग नहीं सकें.

उन्होंने बताया कि शुक्रवार को सुबह मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकवादी मारे गए. अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ स्थल से हथियारों एवं गोला बारूद समेत आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई. कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि दोनों आतंकवादी लश्कर के कमांडर हैं.

यह भी पढ़ें:शोपियां ‘मुठभेड़' को लेकर अधिकारियों के दावे पर उमर अब्दुल्ला ने किया सवाल
 
उन्होंने बताया, ‘‘एक आतंकवादी की पहचान पाकिस्तान के अबु रेहान के रूप में की गई, वह मार्च 2019 से सक्रिय था. दूसरे आतंकवादी की पहचान आदिल रशीद भट के तौर पर हुई, वह भी लश्कर का कमांडर है.'' आईजीपी ने बताया, ‘‘14 अगस्त को नौगाम में दो पुलिसकर्मियों पर हुए हमले में भट शामिल था.'' 

उन्होंने बताया कि भट इन्सास राइफल लेकर भाग गया था जो मुठभेड़ स्थल से बरामद हुई. कुमार ने कहा कि दोनों आतंकवादियों को मार गिराना बलों के लिए एक बड़ी सफलता है. उन्होंने बताया कि ब्लॉक डेवलपमेंट परिषद के अध्यक्ष भूपिंदर सिंह की हत्या के पीछे भी लश्कर के आतंकवादियों का हाथ है. सिंह की बुधवार की शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

सिंह की हत्या के मामले पर कुमार ने कहा, ‘‘जांच की जा रही है और दो संदिग्धों को बुलाया है. बडगाम के एसपी मामले की जांच कर रहे हैं. संभवत: आतंकवादियों को यह पता था कि सिंह घर लौट रहे हैं. हमने सारी जानकारी जुटा ली है और इस मामले को जल्द सुलझा लिया जाएगा.''

उन्होंने बताया कि प्रथमदृष्टया इस मामले में लश्कर के दो आतंकवादियों यूसुफ कांदरू और अबरार का नाम सामने आ रहा है. सीआरपीएफ के अधिकारी की बडगाम के वादीपुरा में हुई हत्या के बारे में उन्होंने कहा कि इस घटना को जैश ए मोहम्मद के आतंकवादियों ने अंजाम दिया है.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि कश्मीर में 170 से 200 आतंकवादी सक्रिय हैं. रेजिस्टेंस फ्रंट के नाम से एक नए आतंकवादी संगठन की ओर से जारी की गई हिट लिस्ट के बारे में उन्होंने कहा कि सूची में जिन लोगों के नाम हैं उनकी सुरक्षा की समीक्षा पुलिस द्वारा की जाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने यह भी बताया कि टीआरएफ असल संगठन नहीं है बल्कि लश्कर से जुड़ी एक ऑनलाइन शाखा है. 

PM मोदी ने 7 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा - टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट जरूरी



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)