NDTV Khabar

विवादों के बीच 3 राफेल लड़ाकू विमान भारत में हुए लैंड, बेंगलुरु में एयरो शो में लेंगे हिस्सा, देखें VIDEO

मोदी सरकार और विपक्ष में राफेल विमान सौदों के लेकर तमाम आरोप-प्रत्यारोप के बीच फ्रांस के वायुसेना के तीन राफेल फाइटर प्लेन भारत पहुंच चुका है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विवादों के बीच 3 राफेल लड़ाकू विमान भारत में हुए लैंड, बेंगलुरु में एयरो शो में लेंगे हिस्सा, देखें VIDEO

फ्रांस की वायुसेना का राफेल विमान भारत आया

नई दिल्ली:

मोदी सरकार और विपक्ष में राफेल विमान सौदों के लेकर तमाम आरोप-प्रत्यारोप के बीच फ्रांस के वायुसेना के तीन राफेल फाइटर प्लेन भारत पहुंच चुका है. बेंगलुरु में एयरो इंडिया शो में भाग लेने के लिए तीन राफेल लड़ाकू विमान भारत में लैंड कर चुके हैं. हालांकि, इसमें से सिर्फ दो ही उड़ान भरेंगे, वहीं तीसरा डिस्पले के लिए होगा. साफ कर दें कि यह फ्रांस के वायुसेना का राफेल है, न कि भारत सरकार ने जो सौदा किया है वह. बताया जा रहा है कि इस शो में पूरे तीन राफेल विमान भाग लेगा. दरअसल, फ्रांस से ये दो राफेल विमान ऐसे वक्त में भारत आया है, जब देश में यह मसला गरमाया हुआ है. हालांकि, राज्यसभा में कैग की रिपोर्ट पेश होने से बैकफुट पर रही मोदी सरकार को कांग्रेस पर हमलावर होने का मौका मिल गया. 

समाचार एजेंसी ने इसका वीडियो भी जारी किया है. साथ ही उसने यह जानकारी दी है कि बेंगलुरु में होने वाले एयरो इंडिया शो में भाग लेने के लिए तीन राफेल लड़ाकू विमान भारत पहुंच चुके हैं. एयरफोर्स के डिप्टी चीफ एयरमार्शल विवेक चौधरी समेत कई टॉप वायुसेना के अधिकारी इस शो के दौरान प्लेन से उड़ान भरेंगे. 


दरअसल, राफेल डील पर बुधवार को नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक की रिपोर्ट राज्यसभा में पेश की गई. रिपोर्ट में कहा गया है कि एनडीए सरकार के दौरान हुआ राफेल लड़ाकू विमान का सौदा पूर्ववर्ती यूपीए सरकार द्वारा की गई डील की तुलना में सस्ता है. रिपोर्ट के मुताबिक एनडीए सरकार तहत हुआ राफेल सौदा पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के सौदे की तुलना में 2.86 फीसदी सस्ता है. सीएजी रिपोर्ट पेश होने के बाद केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए. उन्होंने कहा, ऐसा नहीं हो सकता कि सुप्रीम कोर्ट भी गलत हो, सीएजी भी गलत हो, सिर्फ परिवार ही सही हो. सत्यमेव जयते. सच्चाई की हमेशा जीत होती है.' वहीं बुधवार को कांग्रेस ने संसद के बाहर राफेल डील को लेकर विरोध प्रदर्शन किया.

क्या है कैग रिपोर्ट में
कैग ने अपनी रिपोर्ट में (CAG Report) में 36 राफेल विमानों की नई डील को यूपीए सरकार में हुए 126 विमानों वाली पिछली डील से बेहतर बताया  है. तुलना कर बताया है कि पिछली डील में बदलाव करने से देश का 17.08 फीसदी रकम बची है. रिपोर्ट में कहा गया है, '126 विमानों के लिए किए गए सौदे की तुलना में भारत ने भारतीय आवश्यकतानुसार करवाए गए परिवर्तनों के साथ 36 राफेल विमानों के सौदे में 17.08 फीसदी रकम बचाई है.' इसके साथ ही इसमें कहा गया है, 'पहले 18 राफेल विमानों का डिलीवरी शेड्यूल उस शेड्यूल से पांच महीने बेहतर है, जो 126 विमानों के लिए किए गए सौदे में प्रस्तावित था.' राज्यसभा में पेश की गई भारतीय वायुसेना में Capital Acquisition in Indian Air Force पर सीएजी रिपोर्ट में 16 पन्नों में राफेल सौदे के बारे में जानकारी दी गई है. उधर, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने सीएजी रिपोर्ट राज्यसभा में पेश होने के बाद एक के बाद एक कई ट्वीट किए. उन्होंने कहा, ऐसा नहीं हो सकता कि सुप्रीम कोर्ट भी गलत हो, 'सीएजी भी गलत हो, सिर्फ परिवार ही सही हो. सत्यमेव जयते. सच्चाई की हमेशा जीत होती है. राफेल पर सीएजी रिपोर्ट से सच की पुष्टि हुई. लोकतंत्र उन्हें कैसे दंडित करता है, जो लगातार देश से झूठ बोलते रहे हों. सीएजी रिपोर्ट से 'महाझूठबंधन' के झूठों की पोल खुल गई है.'

वीडियो- राफेल पर सीएजी की रिपोर्ट संसद में पेश

टिप्पणियां

 


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement