आर्टिकल 370 को लेकर बहस में संविधान की प्रति फाड़ी थी, अब जा सकती है इनकी राज्यसभा सदस्यता

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के दो राज्यसभा सांसदों पर संसद में असंसदीय व्यवहार के कारण कठोर कार्रवाई की तलवार लटकने लगी

आर्टिकल 370 को लेकर बहस में संविधान की प्रति फाड़ी थी, अब जा सकती है इनकी राज्यसभा सदस्यता

पीडीपी के सांसद नजीर अहमद लावे ने आर्टिकल 370 को हटाने के विरोध में राज्यसभा के भीतर अपने कपड़े फाड़ लिए थे.

खास बातें

  • दुर्व्यहार का मामला आचरण समिति को भेजने का विचार कर रहे सभापति
  • जम्मू-कश्मीर के दोनों सांसदों ने आर्टिकल 370 हटने का किया था विरोध
  • राज्यसभा में संविधान की प्रति फाड़ दी थी, एक ने अपने कपड़े भी फाड़ लिए थे
नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाली पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के दो राज्यसभा सांसदों पर उनके संसद में असंसदीय व्यवहार को लेकर कठोर कार्रवाई की तलवार लटकने लगी है. उनके आपत्तिजनक आचरण का मामला एथिक्स कमेटी को भेजा जा सकता है. उप राष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू दोनों सांसदों के दुर्व्यहार का प्रकरण आचरण समिति को भेजने का विचार कर रहे हैं. यदि दोनों सांसद दोषी पाए जाते हैं तो उनकी सदस्यता निरस्त की जा सकती है.

राज्यसभा में अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के संकल्प पर बहस के दौरान पीडीपी के सांसद नजीर अहमद लावे और मोहम्मद फयाज ने विरोध जताते हुए असंसदीय व्यवहार किया था. राज्यसभा के इन दोनों पीडीपी सांसदों के सदन के भीतर आचरण का मामला एथिक्स कमेटी को भेजा जा सकता है. राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू नजीर अहमद लावे और मोहम्मद फयाज के सदन के भीतर दुर्व्यवहार का मामला आचरण समिति को भेजने पर विचार कर रहे हैं.

गत सोमवार को राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक पर हंगामे के दौरान इन सांसदों ने संविधान की प्रति फाड़ दी थी. एक सांसद ने सदन के भीतर अपने कपड़े भी फाड़ लिए थे.दोषी पाए जाने पर दोनों सांसदों की सदस्यता रद्द की जा सकती है.

जम्मू-कश्मीर से हटाई गई धारा 370 तो PDP नेता ने संसद में फाड़े कपड़े, जमकर मचाया बवाल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : पीडीपी सांसदों ने आर्टिकल 370 हटाने का किया विरोध