NDTV Khabar

मध्य प्रदेश में खुले में शौच जाने की वजह से दो शिक्षक हुए निलंबित

मध्य प्रदेश में दो शिक्षक निलंबित हो गए हैं. खुले में शौच जाने की वजह से उन्हें ये सज़ा मिली है. एक मामले में आरोपी खुद शिक्षक था तो दुसरे में पत्नी के खुले में शौच जाने की सजा शिक्षक पति को मिली और उसे निलंबित कर दिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मध्य प्रदेश में खुले में शौच जाने की वजह से दो शिक्षक हुए निलंबित

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. मध्यप्रदेश के दो शिक्षक पर हुई कार्रवाई
  2. पत्नी के खुले में जाने की सजा पति शिक्षक को मिली
  3. दूसरे शिक्षक ने खुद ही खुले में शौच किया था
भोपाल: मध्य प्रदेश में दो शिक्षक निलंबित हो गए हैं. खुले में शौच जाने की वजह से उन्हें ये सज़ा मिली है. एक मामले में आरोपी खुद शिक्षक था तो दुसरे में पत्नी के खुले में शौच जाने की सजा शिक्षक पति को मिली और उसे निलंबित कर दिया गया.

यह भी पढ़ें : खुले में शौच : मध्यप्रदेश के रायसेन जिले के 214 गांवों पर लगा 50 लाख रुपये का जुर्माना

शासकीय प्राथमिक विद्यालय बुढ़ेरा के सहायक अध्यापक महेंद्र सिंह यादव खुले में शौच जाने पर निलंबित हुए वहीं, प्रकाश प्रजापति को सज़ा उनकी पत्नी की वजह से मिली. प्रकाश प्रजापति ने बताया उन्हें दस्त हो रहा था पता नहीं कब बाहर गई. मेरे अधिकारियों ने मुझे फोन पर सूचना दी. हालांकि अभी तक कोई लिखित आदेश नहीं मिला है. वहीं ज़िला शिक्षा अधिकारी आदित्य नारायण मिश्र ने कहा महेंद्र खुद और प्रजापति की पत्नी बाहर गईं थीं. पति पत्नी एक ही होते हैं इसलिए उन्हें निलंबित किया गया. दोनों के घर में टॉयलेट है, कलेक्टर साहब स्वच्छता मिशन में लगे हुए हैं ऐसे में जिनपर ज़िम्मेदारी है वही खुले में शौच करेंगे तो ये कदाचार है.

यह भी पढ़ें : 'मन की बात': प्रधानमंत्री ने खुले में शौच से मुक्त होने पर दो गांवों को सराहा

VIDEO:मध्य प्रदेश में खुले में शौच करने को लेकर गांव वालों पर लाखों रुपये का जुर्माना
जिला शिक्षा अधिकारी के दफ्तर से आए आदेश में कहा गया है की सरकारी कर्मचारी का शासन के निर्देषों की अवहेलना किया जाना कदाचार की श्रेणी में आता है. लिहाजा उन्हें निलंबित किया जाता. मध्य प्रदेश में 43,000 गांव और 9 लाख ग्रामीण अब भी खुले में सौच जाते हैं. स्वच्छ भारत मिशन के तेहत अक्टूबर 2019 तक देश को खुले में सैच से मुक्त बनाने का लक्ष्य है. साफ़ है इस लक्ष्य को हासिल करने में राज्य अभी बहुत पीछे हैं, लेकिन खुले में शौच की वजह से निलंबन का देश में शायद ये पहला मामला ही होगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement