NDTV Khabar

सुप्रीम कोर्ट के फैसले को उमा भारती ने बताया दिव्य फैसला, अशोक सिंघल और लालकृष्ण आडवाणी के लिए कही यह बात...

Ayodhya Verdict: बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने (Uma Bharti)अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले (Supreme Court's Ayodhya Verdict)को 'दिव्य फैसला' बताया है. इस मामले में उमा ने सिलसिलेवार कई ट्वीट किए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुप्रीम कोर्ट के फैसले को उमा भारती ने बताया दिव्य फैसला, अशोक सिंघल और लालकृष्ण आडवाणी के लिए कही यह बात...

Uma Bharti ने अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कई ट्वीट किए हैं

खास बातें

  1. कहा, इस काम के लिए अशोक सिंघल ने जीवन की आहुति दी
  2. आडवाणी जी के नेतृत्व में हम सबने सर्वस्व दांव पर लगाया था
  3. आडवाणी जी ने ही छद्म धर्मनिरपेक्षता vs राष्ट्रवाद की बहस छेड़ी थी
नई दिल्ली:

 Ayodhya Verdict: बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने (Uma Bharti)अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले (Supreme Court's Ayodhya Verdict) को 'दिव्य फैसला' बताया है. इस मामले में उमा ने सिलसिलेवार कई ट्वीट किए हैं. उन्होंने इस अवसर पर विहिप के दिग्गज नेता (स्वर्गीय) अशोक सिंघल (Ashok Singhal)और वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) का खास तौर पर जिक्र किया. उमा ने फैसले को लेकर अपने ट्वीट में लिखा, 'सुप्रीम कोर्ट के इस दिव्य फ़ैसले का स्वागत. माननीय अशोक सिंघल जी को स्मरण करते हुए उनको शत्-शत् नमन. वह सब, जिन्होंने इस कार्य के लिए अपने जीवन की आहुति दे दी उन्हें श्रद्धांजलि.' एक अन्य ट्वीट में उमा ने लिखा, ' लालकृष्ण आडवाणी जी का अभिनंदन जिनके नेतृत्व में हम सब लोगों ने इस महान कार्य के लिए अपना सर्वस्व दांव पर लगा दिया था.' गौरतलब है कि अयोध्या मामले पर ऐतिहासिक फैसला देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि विवादित ढांचे की जमीन हिंदुओं को दी जाए. मुसलमानों को मस्जिद के लिए दूसरी जगह मिलेगी. सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने फैसले में कहा, 2.77 एकड़ ज़मीन हिन्दुओं के पास रहेगी. राम मंदिर के लिए केंद्र सरकार तीन महीने के अंदर ट्रस्ट बनाएगी.

अयोध्या के फैसले पर बोले असदुद्दीन ओवैसी- हम पर कृपा करने की जरूरत नहीं


सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या केस में क्यों खारिज कर दी निर्मोही अखाड़ा की दलील

टिप्पणियां

पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा ने लिखा, 'मैं हिमालय, उत्तराखंड गंगा किनारे से अभी-अभी दिल्ली पहुंची हूं. आज बीजेपी पदाधिकारियों की बैठक है. रास्ते में ही मैंने यह फ़ैसला सुना तो मैं सबसे पहले आडवाणी जी के घर पहुंचना चाहती हूं. मैं उन्हें प्रणाम करूंगी. उन्होंने जो सीख दी है, उस पर आगे भी चलूंगी. बीजेपी के वरिष्ठ नेता आडवाणी के बारे में उमा ने लिखा, आडवाणी जी ही वह भारतीय राजनीति के पुरोधा हैं जिन्होंने छद्म धर्मनिरपेक्षता vs राष्ट्रवाद की बहस देश के राजनीति के पटल पर छेड़ी थी और उसी बहस के मंथन में से अयोध्या आंदोलन आगे बढ़ा. उन्हीं के कारण आज भाजपा इस मुकाम पर है. लोगों ने जाति-संप्रदाय तथा वर्ग भेद से ऊपर उठकर मोदी जी का साथ दिया.

मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री रहीं उमा ने लिखा, 'आज हमारी पार्टी सत्ता की शीर्ष पर है. दुनिया में मोदी जी की जय-जयकार है और भारत परम वैभव तथा परम शक्तिशाली राष्ट्र होने की ओर है. इसकी नींव में जो रत्न थे, उनमें से एक जगमगाता हुआ रत्न आडवाणी जी हैं.' बाद में उमा विश्व हिंदू परिषद (VHP) के ऑफिस भी पहुंचीं. उन्होंने ट्वीट किया, 'मैं अभी विश्व हिंदू परिषद के कार्यालय पहुंची हूं और अशोक जी सिंघल को प्रणाम किया, उनका स्मरण किया, उनको शत-शत नमन किया. '



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement