Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

Budget 2019: आयकर छूट सीमा बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये करने, कंपनी कर घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने की मांग

मोदी सरकार अपने इस कार्यकाल का अंतिम बजट (Budget2019) शुक्रवार को पेश करेगी. यह अंतरिम बजट होगा बावजूद इसके अटकलें हैं कि सरकार चुनाव से पहले इसमें मध्यम वर्ग, छोटे उद्यमियों और किसानों को लुभाने के लिए कुछ घोषणायें कर सकती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Budget 2019: आयकर छूट सीमा बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये करने, कंपनी कर घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने की मांग

Budget 2019: बजट में आयकर सीमा बढ़ने की उम्मीद

नई दिल्ली:

उद्योग जगत ने आम बजट (Budget2019) में व्यक्तिगत आयकर छूट की सीमा को ढाई लाख रुपये से बढ़ाकर 3.5 लाख रुपये करने और कारपोरेट कर की दर को सभी कंपनियों के लिये घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने की सरकार से मांग की है. छोटे उद्योगों के लिये अलग से कर संहिता बनाने और स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े विषयों को प्राथमिकता दिये जाने पर भी जोर दिया है. मोदी सरकार अपने इस कार्यकाल का अंतिम बजट (Budget2019) शुक्रवार को पेश करेगी. यह अंतरिम बजट होगा बावजूद इसके अटकलें हैं कि सरकार चुनाव से पहले इसमें मध्यम वर्ग, छोटे उद्यमियों और किसानों को लुभाने के लिए कुछ घोषणायें कर सकती है. सरकार शुक्रवार से शुरू हो रहे बजट सत्र (Budget2019)के दौरान चार माह के लेखानुदान को ही मंजूरी दी जायेगी. पूर्ण बजट (Budget2019)आम चुनाव संपन्न होने के बाद जुलाई में नई सरकार पेश करेगी.

संसद के बजट सत्र में विपक्ष से निपटने के लिये भाजपा, एनडीए की बैठक


सरकार ने पिछले साल के बजट में सालाना 250 करोड़ तक का कारोबार करने वाली कंपनियों के लिये कारपोरेट कर की दर को 30 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत कर दिया था. इस कदम से कर रिटर्न भरने वाली 99 प्रतिशत कंपनियों के लिये कर की दर कम हो गई. पीएचडी वाणिज्य एवं उद्योग मंडल के अध्यक्ष राजीव तलवार ने कहा है, ‘‘यह समय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिये नये ठोस कदम उठाने का है. मांग बढ़ाकर वृद्धि को नये स्तर पर पहुंचाने का है.'' प्रत्यक्ष कर क्षेत्र में सुधारों को आगे बढ़ाया जाना चाहिये.

 गोयल के बजट में बढ़ सकती है आयकर छूट सीमा, किसानों के लिये हो सकती है राहत पैकेज की घोषणा

उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत आयकर छूट सीमा को भी मौजूदा ढाई लाख से बढ़ाकर साढ़े तीन लाख रुपये किया जाना चाहिये और व्यक्तिगत आयकर पर लगने वाली सबसे ऊंची कर दर को भी 30 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत कर दिया जाना चाहिये. इसके साथ ही आयकर स्लैब को भी बढ़ाया जाना चाहिये. 15 लाख रुपये से अधिक की वार्षिक आय पर ही सबसे ऊंची दर से कर लगना चाहिये. इस समय 10 लाख रुपये से अधिक की आय पर सबसे ऊंची दर यानी 30 प्रतिशत की दर से आयकर लिया जाता है. वर्तमान में ढाई लाख रुपये तक की वार्षिक आय कर मुक्त है जबकि ढाई से पांच लाख रुपये तक पर पांच प्रतिशत, पांच लाख से दस लाख रुपये पर 20 प्रतिशत और दस लाख रुपये से अधिक की सालाना आय पर 30 प्रतिशत की दर से आयकर लगाया जाता है. इसके अलावा उपकर और अधिभार भी लागू हैं.

पीयूष गोयल आज पेश करेंगे अंतरिम बजट, लोक लुभावन घोषणाओं की है उम्मीद

वरिष्ठ नागरिकों और 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गों के लिये क्रमश: तीन लाख रुपये और पांच लाख रुपये तक की आय को कर मुक्त रखा गया है. पीएचडी मंडल की अप्रत्यक्ष कर समिति के अध्यक्ष बिमल जैन ने आयकर कानून की धारा 80सी के तहत बीमा पॉलिसी, बच्चों की फीस और दूसरे खर्चों पर दी जाने वाली डेढ़ लाख रुपये तक की कर छूट को बढ़ाकर ढाई लाख रुपये करने और समूची माल एवं सेवाकर (जीएसटी) प्रक्रिया को अधिक सरल और ग्राह्य बनाये जाने पर जोर दिया है. इंडिया बिजनेस चैंबर के प्रधान सलाहकार ज्योतिर्मय जैन ने 2019-20 के अंतरिम बजट में समाज के गरीब, कमजोर वर्ग के लिये न्यूनतम आय गारंटी योजना की घोषणा करने और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों के लिये अलग से कर संहिता बनाये जाने की मांग की है.

Budget 2019-20 के साथ ही साथ समझें कैसे बनाएं किचन का बजट...

उन्होंने कहा कि जीएसटी के तहत पंजीकरण से छूट सीमा को हर दो साल में संशोधित किया जाना चाहिये. हाल ही में इस सीमा को 20 लाख से बढ़ाकर 40 लाख रुपये किया गया है. संपत्ति सलाहकार कंपनी नाइट फ्रैंक ने कहा है कि आवास ऋण के भुगतान में डेढ़ लाख रुपये तक के मूल राशि के भुगतान पर कर लाभ दिया जाना चाहिये. आवास ऋण पर लंबे समय तक किस्त चुकानी होती है जिसमें मूल राशि के भुगतान पर कोई लाभ नहीं मिलता है. हालांकि आवास ऋण पर दिये जाने वाले ब्याज पर सालाना दो लाख रुपये तक की कर छूट का लाभ मिलता है. इंडस हेल्थ प्लस के संयुक्त प्रबंध निदेशक अमोल नायकवाडी ने कहा कि बीमारी रोकने के लिये स्वास्थ्य जांच को बढ़ावा दिया जाना चाहिये. आयकर धारा 80डी के तहत स्वास्थ्य जांच पर कर छूट को पांच हजार से बढ़ाकर 10 हजार रुपये किया जाना चाहिये.

VIDEO: आज से संसद का बजट सत्र.

 

 

 

टिप्पणियां

 

 



दिल्ली चुनाव (Elections 2020) के LIVE चुनाव परिणाम, यानी Delhi Election Results 2020 (दिल्ली इलेक्शन रिजल्ट 2020) तथा Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दीपिका पादुकोण ने कहा, "इश्‍क करना खता है तो सजा दो मुझे...", TikTok पर वायरल हुआ वीडियो

Advertisement