NDTV Khabar

उन्नाव रेप मामला: परिवार ने कहा- मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद ही होगा पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार

पीड़िता के पिता ने एनडीटीवी से शनिवार को बात करते हुए कहा कि, उन्हें न ही 25 लाख रुपये चाहिए और न ही कोई घर बल्कि उन्हें एक हफ्ते के अंदर अपनी बेटी के लिए इंसाफ चाहिए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उन्नाव रेप मामला: परिवार ने कहा- मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद ही होगा पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार

परिजनों की मांग है कि अंतिम संस्कार करने से पहले योगी आदित्यनाथ उनसे मिलें.

खास बातें

  1. शुक्रवार देर रात को इलाज के दौरान हुई थी उन्नाव रेप पीड़िता की मौत
  2. रविवार सुबह घर पहुंचा महिला का शव
  3. परिजनों ने सीएम से मुलाकात के बाद अंतिम संस्कार करने की रखी मांग
लखनऊ:

उन्नाव दुष्कर्म (Unnao Rape Case) पीड़िता की मौत शुक्रवार देर रात को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में हुई. इसके बाद रविवार सुबह पीड़िता का शव उत्तर प्रदेश के उन्नाव में उसके घर पहुंच गया है. जानकारी के मुताबिक आज उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा. हालांकि, अंतिम संस्कार करने से पहले पीड़िता के परिवार ने मुख्मंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Aadityanath) से मिलने की मांग रखी है. परिजनों की मांग है कि पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार करने से पहले योगी आदित्यनाथ उनसे उनके घर आकर मिलें.

यह भी पढ़ें: उन्नाव रेप पीड़िता की बहन ने कहा- CM योगी हमें आकर बताएं कि न्याय कब मिलेगा

बता दें, मुख्यमंत्री ने शनिवार को अपने दो मंत्रियों को पीड़िता के घर भेजा था. इसके साथ उन्होंने कहा था कि वह इस घटना के से बेहद दुखी हैं और इस मामले की सुनवाई फास्टट्रैक कोर्ट में कराने का आश्वासन देते हुए उन्होंने कहा था, ''मामले के आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए''. 


मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने शनिवार को पीड़िता के परिवार को 25 लाख की आर्थिक सहायता का भी ऐलान किया था. इसके साथ ही उन्होंने पीड़िता के घरवालों को एक पक्का मकान देने की भी घोषणा की. बता दें, 23 वर्षीय पीड़िता को गुरुवार तड़के बलात्कार के दो आरोपियों सहित पांच लोगों ने जला दिया था. करीब 90 प्रतिशत तक झुलस चुकी युवती को एयर एम्बुलेंस के जरिए दिल्ली लाया गया था और यहां सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. 

टिप्पणियां

उन्नाव बलात्कार मामला: 42 घंटे का संघर्ष और फिर मौत

पीड़िता के पिता ने एनडीटीवी से शनिवार को बात करते हुए कहा कि, उन्हें न ही 25 लाख रुपये चाहिए और न ही कोई घर बल्कि उन्हें एक हफ्ते के अंदर अपनी बेटी के लिए इंसाफ चाहिए. घटना के बाद से ही पीड़िता के घर के बाहर और गांव में पुलिस का भारी दस्ता तैनात है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... CAA पर सिब्बल के बयान के बाद आया कांग्रेस का Reaction,'राज्यों को केंद्र से असहमत होने का अधिकार जबतक...'

Advertisement