यह ख़बर 10 दिसंबर, 2014 को प्रकाशित हुई थी

यूपी के चीफ सेक्रेटरी ने कहा, आगरा में हुए धर्म परिवर्तन की जानकारी नहीं

यूपी के चीफ सेक्रेटरी ने कहा, आगरा में हुए धर्म परिवर्तन की जानकारी नहीं

लखनऊ:

आगरा में धर्म परिवर्तन के मुद्दे की उत्तर प्रदेश के चीफ सेक्रेटरी आलोक रंजन को जानकारी ही नहीं है। उनसे जब पत्रकारों ने पूछा कि आगरा में जो धर्म परिवर्तन की रिपोर्ट आ रही हैं, उस पर क्या कार्रवाई की जा रही है तो उन्होंने कहा कि कौन-सा आगरा वाला मुद्दा। उसके बाद उन्होंने कहा कि अभी पुख्ता जानकारी नहीं है, सुनी−सुनाई बातें हैं। पूरे तथ्य मालूम होने पर ही कार्रवाई की जाएगी।

वहीं धर्मपरिवर्तन के खिलाफ आगरा में मुस्लिम समाज के लोगों ने धरना दिया है और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा है। इन लोगों का कहना है कि धर्म परिवर्तन जबरदस्ती किया गया। उन्होंने घटना का विरोध किया है और कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

Newsbeep

उधर, इस मामले में आगरा के सदर बाजार थाने में बजरंग दल के एक कार्यकर्ता के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। बजरंग दल के कार्यकर्ता किशोर बाल्मीकि पर आरोप है कि उसने 60 मुसलमानों को बरगला कर उनका जबरन धर्म परिवर्तन कराया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौर करने वाली बात है कि सोमवार को 250 मुसलमानों का धर्म परिवर्तन किया गया, जिनमें से 60 का धर्म परिवर्तन उनकी मर्जी के बगैर करने का आरोप है। ये शिकायत हिन्दू धर्म अपनाने वाले इस्माइल ने दर्ज कराई है, हालांकि इस्माइल मंगलवार को यह कह रहा था कि उसने अपनी मर्जी से धर्म बदला है, लेकिन अब उसका कहना है कि धोखे से उसका धर्म बदला गया।