यह ख़बर 11 जनवरी, 2014 को प्रकाशित हुई थी

राहत शिविरों में मौत पर बोले यूपी के मंत्री, मौत तो कहीं भी हो सकती है

वृंदावन / लखनऊ:

मुजफ्फरनगर दंगा पीड़ितों के राहत शिविरों में मौत के मामले पर उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से शर्मनाक बयानों का सिलसिला लगातार जारी है। इस बार बयान दिया है उत्तर प्रदेश सरकार के खेलमंत्री नारद राय ने।

नारद राय ने मुजफ्फरनगर के राहत शिविरों में बच्चों की मौत के बारे में पूछे जाने पर यह दलील देते हुए आरोपों को खारिज कर दिया कि मौत तो शाश्वत है...मौत महलों में भी हो सकती है और घरों में भी होती है, फुटपाथ पर भी हो सकती है।

गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर दंगा पीड़ितों के राहत शिविरों में अब तक करीब 60 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें ज्यादा तादाद बच्चों की है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के प्रधान सचिव (गृह) अनिल गुप्ता ने भी अपने बयान में कहा था कि ठंड से कोई नहीं मरता, अगर ऐसा होता तो साइबेरिया में तो कोई भी जिंदा नहीं बचता।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com