NDTV Khabar

बैंक लोन फ्रॉड : घोटाले में अमरिंदर सिंह के दामाद का भी नाम, मामला दर्ज

घोटाले में पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह के दामाद गुरपाल सिंह समेत कई शीर्ष अधिकारी आरोपी, बीजेपी ने कांग्रेस को घेरा

222 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बैंक लोन फ्रॉड : घोटाले में अमरिंदर सिंह के दामाद का भी नाम, मामला दर्ज

बैंक लोन फ्रॉड केस में अमरिंदर सिंह के दामाद आरोपी हैं और उन पर मामला दर्ज किया गया है.

खास बातें

  1. हापुड़ की सिंभावली शुगर्स लिमिटेड से जुड़ा घोटाला
  2. 109 करोड़ के बैंक लोन फ़्रॉड का मामला
  3. कांग्रेस ने कहा, ये मामला पंजाब सरकार से नहीं जुड़ा
नई दिल्ली: पीएनबी और रोटोमैक के बाद एक और बड़ा घोटाला सामने आया है. ताज़ा घोटाला देश की सबसे बड़ी चीनी मिलों में से एक हापुड़ की सिंभावली शुगर्स लिमिटेड से जुड़ा है. 109 करोड़ के बैंक लोन फ़्रॉड के मामले में सीबीआई ने कंपनी के डिप्टी डायरेक्टर और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद गुरपाल सिंह समेत कई शीर्ष अधिकारियों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया है.

पीएनबी और रोटोमैक के बाद OBC बैंक से जुड़ा फ्राड केस सामने आने से बैंकिंग सेक्टर फिर सवालों के घेरे में है.ताज़ा घोटाला देश की सबसे बड़ी चीनी मिलों में से एक हापुड़ की सिंभावली शुगर्स लिमिटेड से जुड़ा है. सीबीआई ने कंपनी के जिन अधिकारियों को आरोपी बनाया है उसमें कंपनी के डिप्टी डायरेक्टर और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के दामाद गुरपाल सिंह का नाम शामिल है.

सीबीआई ने इस शुगर मिल कंपनी के अधिकारियों के साथ-साथ बैंक के शीर्ष अधिकारियों पर भी मामला दर्ज किया गया है. सीबीआई का आरोप है कि सिंभावली शुगर्स लिमिटेड ने 2012 में 5700 गन्ना किसानों को पैसे देने के नाम पर ओरिएंटल बैंक से 150 करोड़ रुपये का लोन लिया. लेकिन इस पैसे को किसानों को देने की बज़ाय निजी इस्तेमाल में ख़र्च किया. फिर मार्च 2015 में ये लोन एनपीए में बदल गया. उसके बाद भी बैंक ने इस मिल को 109 करोड़ का कॉरपोरेट लोन भी मंज़ूर कर दिया, जो पिछला बक़ाया चुकाने के लिए लिया गया. लेकिन बाद में लोन की ये रक़म भी एनपीए में बदल गई.

यह भी पढ़ें : PNB में 2011 से हो रहा घोटाला, इस वजह से नहीं आया पकड़ में!

इस मामले में सीबीआई ने दिल्ली, नोएडा और हापुड़ में मिल के 8 ठिकानों की तलाशी ली है. अब इस जांच के साथ-साथ राजनीति भी गरमा गई है. पंजाब के मुख्यमंत्री के दामाद का नाम सामने आने के बाद पीएनबी घोटाले के बाद कांग्रेस के आरोप झेल रही बीजेपी ने पलटवार करने में देरी नहीं की.

अल्पसंमख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने एनडीटीवी से कहा, कांग्रेस भष्टाचार की कुंडली
और बेईमानों की मंडली है. इस केस में कानून अपना काम करेगा...पारदर्शिता और बिना किसा भेदभाव के काम करेगा.

जबकि कांग्रेस ने पंजाब के मुख्यमंत्री का बचाव किया. कांग्रेस सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने कहा कि किसी भी परिवार के सदस्य के बारे में आरोप लगने से किसी मुख्यमंत्री पर कोई आरोप कैसे लगाया जा सकता है. ये मामला पंजाब सरकार से जुड़ा नहीं है.

टिप्पणियां
VIDEO : 109 करोड़ का घोटाला

इस बैंक फ्राड केस में पंजाब से सीएम के दामाद का नाम सामने आने से मामला राजनीतिक ज़रूर हो गया है...लेकिन ताज़ा घोटाले के खुलासे से बैंकिंग सेक्टर के कामकाज पर फिर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं. इस राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप में कहीं ये सवाल पीछे ना छूट जाएं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement