NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश : फर्रुखाबाद जेल में कैदियों ने काटा बवाल, छत पर चढ़कर बरसाए ईंट-पत्थर, जेलर घायल

210 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. फर्रुखाबाद जिला जेल के कैदी साथी कैदी का इलाज नहीं होने से नाराज़ थे
  2. कैदियों ने पुलिस वालों पर पत्थर-ईंटें बरसाईं, कुछ जगह आग भी लगाई
  3. पत्थरबाज़ी में कार्यवाहक डीएम और जेल सुपरिटेंडेंट को सिर में चोटें आईं
फर्रुखाबाद (उत्तर प्रदेश): उत्तर प्रदेश की फर्रुखाबाद जिला जेल में लगभग 200 कैदियों ने न सिर्फ छत पर चढ़कर पुलिस वालों पर पत्थरों और ईंटों से हमला किया, बल्कि जेल में कुछ जगहों पर आग भी लगा दी. इन वारदात में जेलर भी घायल हुए. घटना के बाद जेलर समेत चार बंदी रक्षकों को सस्पेंड कर दिया गया है. अब जिलाधिकारी खुद हंगामा कर रहे कैदियों से बातचीत की कोशिश कर रहे हैं.

बताया जा रहा है कि पत्थरबाज़ी में कार्यवाहक डीएम एनपी पांडे और जेल सुपरिटेंडेंट राकेश कुमार को सिर में चोटें आई हैं. कैदियों का आरोप है कि जेल में उनके साथी कैदी का इलाज नहीं किया गया. वैसे, इसके अलावा कैदी जेल में खराब खाने को लेकर भी नाराज़ हैं.
 
farrukhabad jail
पथराव के दौरान जेलर के सिर पर भी पत्थर लगा, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए, और उन्हें जिला अस्पताल भेजा गया है.

NDTV इंडिया को मिली जानकारी के मुताबिक जेल में कैदियों व जेल प्रशासन के बीच सोमवार सुबह से ही विवाद जारी है. 200 से अधिक कैदी छतों पर ईंट-पत्थर लेकर चढ़े हुए हैं, और रुक-रुककर पथराव कर रहे हैं. इन लोगों ने जेल के भीतर कुछ जगहों पर आग भी लगा दी है. पथराव के दौरान जेलर के सिर पर भी पत्थर लगा, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए, और उन्हें जिला अस्पताल भेजा गया है. पथराव में एक कैदी के सिर में भी चोटें आई हैं.

जब मामला नियंत्रण से बाहर हो गया, तो जिला प्रशासन ने कई थानों की फोर्स वहां भेज दी, और कार्यवाहक डीएम खुद भी मौके पर पहुंच गए. लेकिन कैदियों ने पांडे द्वारा बातचीत की कोशिश किए जाने पर फिर पथराव कर दिया, जिसमें वह भी घायल हो गए.

इस घटना के दौरान जेल कर्मचारियों के पास सिर पर पहनने के लिए हेल्मेट या बॉडी प्रोटेक्टर नहीं थे, और वे खुद को बचाने के लिए दीवारों के पास छिपे रहे. एक सिपाही को तो अपने सिर पर बाल्टी रखे भी देखा गया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement