Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

योगी सरकार में 80 की जगह हो सकते हैं 50 मंत्रालय, कई मंत्रियों की जा सकती है कुर्सी

उत्तर प्रदेश में जल्द ही मंत्रिमंडल में फेरबदल देखने को मिल सकता है. मंगलवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरएसएस के नेताओं से मिले. इस बैठक में यूपी में मंत्रालयों की संख्या 80 से घटाकर 50 करने पर विचार किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
योगी सरकार में 80 की जगह हो सकते हैं 50 मंत्रालय, कई मंत्रियों की जा सकती है कुर्सी

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट में हो सकता है फेरबदल

खास बातें

  1. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरएसएस के नेताओं से मिले
  2. यूपी में मंत्रालयों की संख्या 80 से घटाकर 50 करने पर विचार किया गया
  3. कई मंत्रियों की कुर्सी चली जाएगी
नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में जल्द ही मंत्रिमंडल में फेरबदल देखने को मिल सकता है. मंगलवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरएसएस के नेताओं से मिले. इस बैठक में यूपी में मंत्रालयों की संख्या 80 से घटाकर 50 करने पर विचार किया गया. अगर ऐसा होता है तो कई मंत्रियों की कुर्सी चली जाएगी. माना जा रहा है कि लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र राम मंदिर समेत कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई. लोक सभा उपचुनावों में हार के बाद से ही यूपी की योगी सरकार के कामकाज पर सवाल उठने लगे हैं.

क्या राम मंदिर को लेकर BJP-RSS में कोई खिचड़ी पक रही है?

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के महासचिव भैय्याजी जोशी और वरिष्ठ नेता कृष्ण गोपाल से मिलने खासतौर से दिल्ली आए योगी आदित्यनाथ. बाद में संघ प्रमुख मोहन भागवत भी वहां पहुंचे हालांकि संघ सूत्रों के अनुसार योगी की मुलाकात भागवत से नहीं हुई. सुबह दिल्ली में संघ नेताओं से मिलने के बाद वे शाम को लखनऊ में भी संघ नेताओं से मिले. यह मुलाकात अयोध्या में संत सम्मेलन के एक ही दिन बाद हुई जहां संतों ने राम मंदिर निर्माण में देरी को लेकर नाराजगी जताई थी. 


योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में बोले रामविलास वेदांती, 2019 से पहले कभी भी शुरू हो जाएगा राम मंदिर का निर्माण

राम जन्मभूमि न्यास के सदस्य रामविलास वेदांती ने कहा कि इस सम्मेलन में योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे, जिन्होंने संतों की नाराजगी को करीब से देखा. हालांकि योगी ने अदालत के फैसले में देरी के लिए नाम लिए बिना कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर निशाना साधा. 
 
यूपी के CM योगी आदित्यनाथ ने AMU और जामिया में दलितों के लिए की आरक्षण की मांग...

टिप्पणियां

माना जा रहा है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संघ नेताओं को राम मंदिर को लेकर संतों के रुख से भी अवगत कराया. बीजेपी के मिशन 2019 के लिए यूपी एक बड़ी चुनौती बन कर उभरा है. लोक सभा उपचुनावों में हार के बाद से ही योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व पर सवाल उठने लगे हैं. रही सही कसर विपक्षी एकता ने पूरी कर दी है. संघ और बीजेपी को यह एहसास है कि राम मंदिर के मुद्दे पर अब सिर्फ बातों से कुछ नहीं होगा. 

VIDEO: राम मंदिर में देरी के कारण बीजेपी से नाराज संत समाज

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... प्रशांत किशोर बोले- नीतीश कुमार ने बेटे की तरह रखा, उनसे इन दो वजहों से हुआ मतभेद

Advertisement