NDTV Khabar

उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट पर लोकसभा में हंगामा : कांग्रेस ने मांगा गृहमंत्री से जवाब, बीजेपी सांसद बोले- ट्रक तो सपा कार्यकर्ता का है

मिली जानकारी के मुताबिक पीड़िता अपने चाचा से मिलकर वापस जा रही थी जो एक अन्य मामले में उम्रकैद काट रहे हैं. चाचा की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर में कहा गया है कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल के अंदर से धमकाकर कहते थे कि समझौता कर लो अगर जिंदा रहना है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट पर लोकसभा में हंगामा : कांग्रेस ने मांगा गृहमंत्री से जवाब, बीजेपी सांसद बोले- ट्रक तो सपा कार्यकर्ता का है

उन्नाव मामले पर लोकसभा में हंगामा (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. उन्नाव मामले पर लोकसभा में हंगामा
  2. बीजेपी सांसद बोले ट्रक सपा कार्यकर्ता का
  3. कांग्रेस ने मांगा गृहमंत्री से जवाब
नई दिल्ली:

उन्नाव रेप पीड़िता के साथ हुए एक्सीडेंट  मामले पर विपक्ष ने लोकसभा में जमकर हंगामा किया है. विपक्षी सांसदों ने 'प्रधानमंत्री जवाब दो'... 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का क्या हुआ', 'उन्नाव की बेटी को बचाओ' जैसे नारे लगाए हैं. बीजेपी सांसद जगदंबिका पाल ने पलटवार करते हुए कहा कि जिस ट्रक ने रेप पीड़िता की कार में टक्कर मारी है वह समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता का है. लेकिन उत्तर प्रदेश की सरकार को बदनाम करने का काम किया जा रहा है. वहीं दूसरी ओर फतेहपुर सांसद ज्योति निरंजन ने भी यही बात दोहराते हुए कहा कि ट्रक समाजवादी पार्टी के सांसद का है जो उनके ही क्षेत्र का है. हादसे के पीछे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता का हाथ है. लेकिन विपक्षी सांसदों की नारेबाजी रही. कांग्रेस की ओर से गृहमंत्री अमित शाह की ओर से मुद्दे पर बयान देने की मांग की गई है. गौरतलब है कि पिछले हफ्ते पीड़िता की कार को रायबरेली से उन्नाव जाते समय गुरुबख्शगंज नाम की जगह एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी. जिसमें पीड़िता की मौसी और एक महिला रिश्तेदार की मौत हो गई जबकि पीड़िता और उनका वकील गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. 


मिली जानकारी के मुताबिक पीड़िता अपने चाचा से मिलकर वापस जा रही थी जो एक अन्य मामले में उम्रकैद काट रहे हैं. चाचा की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर में कहा गया है कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल के अंदर से धमकाकर कहते थे कि समझौता कर लो अगर जिंदा रहना है. पीड़ित के चाचा ने कहा कि कुलदीप सेंगर के साथ-साथ उनके लोग भी समझौते का दबाव डाल रहे थे. जब इसकी शिकायत पुलिस से की गई तो पुलिस का कहना था कि सेंगर विधायक हैं, समझौता कर लो.

उन्नाव रेप कांड: मायावती बोलीं- BJP आरोपी विधायक को संरक्षण दे रही है, सुप्रीम कोर्ट ले संज्ञान

आपको बता दें कि कुलदीप सिंह सेंगर बीते एक साल से जेल में बंद हैं और उन पर एक लड़की ने आरोप लगाया है कि साल 2017 में वह नौकरी की तलाश में कुलदीप सिंह सेंगर के घर गई थी जहां सेंगर ने उनके साथ रेप किया. इसके बाद उसके पिता को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और जहां कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सेंगर और पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की जिसमें उनकी मौत हो गई. अतुल सेंगर भी इस समय हत्या के मामले में जेल में बंद हैं.

टिप्पणियां

उन्नाव रेप पीड़िता की सड़क दुर्घटना मामले की जांच CBI से कराने की सिफारिश​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement