एनडीए सरकार के लिए सिरदर्द बनी उड़द दाल, 10 से 30 रुपये किलो तक हुई महंगी

एनडीए सरकार के लिए सिरदर्द बनी उड़द दाल, 10 से 30 रुपये किलो तक हुई महंगी

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली:

उड़द दाल अब एनडीए सरकार के लिए सिरदर्द बन गयी है। काफी मशक्कत के बाद जब अरहर की कीमतों में थोड़ी गिरावट दर्ज़ हुई तो अब उड़द दाल कई बड़े शहरों में महंगी हो गयी है।

पिछले एक महीने में उड़द दाल देश के 15 अहम शहरों में 10 से 30 रुपये तक महंगी हो गयी है, वो भी तब जब सरकार कीमतों को नियंत्रित करने के लिए हज़ारों टन दाल का आयात कर चुकी है। उड़द दाल महंगी हुई तो उसकी बिक्री भी तेज़ी से घट गयी है। दिल्ली के साउथ एवेन्यू कॉलोनी में दशकों से किराना की दुकान चला रहे खुदरा व्यापारी अशोक खुराना कहते हैं, "उड़द दाल दिल्ली में अरहर दाल से भी महंगी हो गयी है...पहले महीने में अगर हम 100 किलो तक बेचते थे तो अब 25 किलो ही बिकता है...लोग अब दाल बेहद कम खरीद रहे हैं।"

खाद्य मंत्रालय के पास मौजूद आंकड़ों के मुताबिक पिछले एक महीने में उड़द दाल की कीमत ग्वालियर में 115 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 145 रुपये प्रति किलो हो गयी यानी 30 रुपये महंगी। इस दौरान पंचकुला में भी उड़द दाल की कीमत 120 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 150 रुपये प्रति किलो हो गयी यानी 30 रुपये महंगी। यही हाल हिसार का भी रहा जहां पिछले चार हफ्तों में उड़द दाल 130 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 160 रुपये प्रति किलो हो गयी जबकि गुड़गांव में इसकी कीमत 132 रुपये प्रति किलो से बढ़कर 158 रुपये प्रति किलो हो गयी यानी 26 रुपये महंगी।

दाल महंगी होने से आम ग्राहक फिर तनाव में हैं। दिल्ली निवासी सुरेश कहते हैं, "पहले कहते थे दाल-रोटी खाकर गुज़ारा कर लेंगे...अब ये नहीं कह सकते...पहले हर रोज़ खाते थे...अब हफ्ते में सिर्फ एक बार दाल खाते हैं।" जबकि साउथ एवेन्यू निवासी आनंद कहते हैं, "कीमत बढ़ने से पहले दाल हर महीने 5 किलो खरीदते थे...अब 2 से 2.5 किलो ही खरीदते हैं।

अब देखना महत्वपूर्ण होगा कि सरकार की इस चुनौती से कैसे निपटती है।

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com