नहीं रहे उर्दू शायर गुलजार देहलवी, कोरोना संक्रमण से ठीक होने के 5 दिन बाद हुआ निधन

शायर गुलजार देहलवी एक माह बाद आयु के 94 वर्ष पूरा करने वाले थे.  उनका निधन नोएडा स्थित उनके आवास पर हुआ. 

नहीं रहे उर्दू शायर गुलजार देहलवी, कोरोना संक्रमण से ठीक होने के 5 दिन बाद हुआ निधन

स्वतंत्रता सेनानी और जाने-माने ‘इंकलाबी’ कवि देहलवी को कोरोना के चलते 1 जून को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

नई दिल्ली:

कोविड-19 संक्रमण से उबरने के पांच दिन बाद वरिष्ठ उर्दू शायर आनंद मोहन जुत्शी उर्फ गुलजार देहलवी का शुक्रवार दोपहर को निधन हो गया. वह एक माह बाद आयु के 94 वर्ष पूरा करने वाले थे.  उनका निधन नोएडा स्थित उनके आवास पर हुआ.  बीते सात जून को उनकी कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट दोबारा निगेटिव आयी थी जिसके बाद उन्हें घर वापस लाया गया. 

उनके बेटे अनूप जुत्शी ने कहा, “सात जून को उनकी कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट दोबारा निगेटिव आयी जिसके बाद हम उन्हें घर वापस लाये. आज लगभग दोपहर ढाई बजे हमने खाना खाया और उसके बाद उनका निधन हो गया. ”


उन्होंने कहा, “वह काफी बूढ़े थे और संक्रमण के कारण काफी कमजोर भी हो गए थे. डॉक्टरों का मानना है कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा होगा.” स्वतंत्रता सेनानी और जाने-माने ‘इंकलाबी' कवि देहलवी को कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद एक जून को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

पुरानी दिल्ली के गली कश्मीरियां में 1926 में जन्मे देहलवी भारत सरकार द्वारा 1975 में प्रकाशित पहली उर्दू विज्ञान पत्रिका ‘साइंस की दुनिया' के संपादक भी रह चुके हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मशहूर शायर बशीर बद्र से एक खास मुलाकात



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)