NDTV Khabar

मुजफ्फरनगर ट्रेन हादसा: दो रेलवे कर्मियों का 15 मिनट का ऑडियो क्लिप वायरल

सोशल मीडिया पर मुजफ्फरनगर ट्रेन हादसे के संबंध में दो रेलवे कर्मचारियों की बातचीत की क्लिप वायरल हो गई

494 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरनगर ट्रेन हादसा: दो रेलवे कर्मियों का 15 मिनट का ऑडियो क्लिप वायरल

रेलवे कर्मचारियों की टेलीफोन पर हुई बातचीत में ट्रेन दुर्घटना में 'लापरवाही' के संकेत मिले हैं....

खास बातें

  1. ऑडियो क्लिप की स्वतंत्र रूप से जांच नहीं की जा सकी है
  2. मजदूरों ने कुछ उपकरण ट्रैक के बीच में छोड़ दिए थे
  3. रेलवे अधिकारियों ने कहा कि उन्हें अभी तक ऑडियो क्लिप नहीं मिली
नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर रविवार को मुजफ्फरनगर ट्रेन हादसे के बाद तेजी से फैली दो रेलवे कर्मचारियों की टेलीफोन पर हुई बातचीत में शनिवार को उत्तर प्रदेश में हुई ट्रेन दुर्घटना में 'लापरवाही' के संकेत मिले हैं. हालांकि, करीब 15 मिनट के ऑडियो क्लिप की स्वतंत्र रूप से जांच नहीं की जा सकी है. एक रेलवे के अधिकारी ने कहा कि वे इसे देख रहे हैं. दुर्घटना स्थल के पास एक क्रासिंग पर तैनात एक व्यक्ति इस ऑडियो क्लिप में कह रहा कि ट्रैक के रखरखाव वाले स्थान पर जहां कार्य चल रहा था, वहां 'खराब गश्त' की व्यवस्था थी, यह दुर्घटना के कारणों में से एक वजह है.

इस क्लिप में एक रेलवे कर्मचारी को स्पष्ट रूप से यह कहते सुना जा रहा है, "रेलवे ट्रैक के एक भाग पर वेल्डिंग का काम चल रहा था.. लेकिन मजदूरों ने ट्रैक के टुकड़े को जोड़ा नहीं और इसे ढीला छोड़ दिया. क्रासिंग के पास गेट बंद था. ट्रैक का एक टुकड़ा लगाया नहीं जा सका था और जब उत्कल एक्सप्रेस पहुंची तो इसके 14 कोच पटरी से उतर गए."

पढ़ें: मुजफ्फरनगर हादसा: ट्रेन एक्‍सीडेंट के पीछे उभर रहे कई एंगल

ऑडियो क्लिप में उसे यह कहते सुना जा रहा है, "जिस लाइन पर काम चल रहा था, न तो उसे ठीक किया गया और न ही कोई झंडा या साइनबोर्ड (रोकने के संकेत के तौर पर) लगाया गया. यह दुर्घटना लापरवाही की वजह से हुई. ऐसा लगता है कि सभी (संबंधित कर्मचारी) निलंबित होंगे." इस पर दूसरे ने जवाब दिया दिया कि जूनियर इंजीनियर व दूसरे अधिकारियों सहित सभी के खिलाफ कार्रवाई की संभावना है.

पढ़ें: मुज़फ्फरनगर ट्रेन हादसा: ये हैं जरूरी हेल्प लाइन नंबर

दोनों एक दूसरे से यह भी बताते हैं कि मजदूरों ने अपना काम समाप्त करने के बाद कुछ उपकरण ट्रैक के बीच में छोड़ दिया था. कम से कम वे मशीन को हटा सकते थे और एक लाल झंडा वहां लगा सकते थे, जिससे शायद हादसा टल सकता था. रेलवे अधिकारियों ने कहा कि उन्हें अभी तक ऑडियो क्लिप नहीं मिली है.

पढ़ें: मुजफ्फरनगर ट्रेन हादसा: मेरठ लाइन पर ट्रेनें शाम छह बजे तक रद्द, रूट में चेंज

रेलवे बोर्ड के अधिकारी मोहम्मद जमशेद ने यहां संवाददाताओं से कहा, "हमें मीडिया से दो रेलवे कर्मचारियों के बीच बातचीत का पता चला है. इसमें कहा गया है कि ट्रेन के पटरी से उतरने की घटना लापरवाही की वजह से हुई. हम क्लिप की प्रमाणिकता की जांच करेंगे."

VIDEO : खतौली स्टेशन सुपरिटेंडेंट को मरम्मत की नहीं थी जानकारी


कलिंगा उत्कल एक्सप्रेस शनिवार को ओडिशा के पुरी से उत्तराखंड के हरिद्वार जा रही थी, जब उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में 14 कोचों के पटरी से उतर जाने से यह हादसा हुआ. रेलवे ने 20 लोगों के मारे जाने की बात कही है, वहीं राज्य के अधिकारियों ने 24 लोगों के मारे जाने की सूचना दी है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement