NDTV Khabar

यूपी-बिहार में अगले लोकसभा चुनाव की तस्वीर दिखाने वाले उपचुनावों के परिणाम सुबह 8 बजे से

गोरखपुर, फूलपुर, अररिया लोकसभा क्षेत्रों और जहानाबाद और भभुआ विधानसभा क्षेत्रों के उपचुनाव की मतगणना आज सुबह 8 बजे से

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी-बिहार में अगले लोकसभा चुनाव की तस्वीर दिखाने वाले उपचुनावों के परिणाम सुबह 8 बजे से

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य.

खास बातें

  1. सुबह 10 बजे से मिलेंगे रुझान, दोपहर से पहले आ जाएंगे परिणाम
  2. यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम मौर्य की प्रतिष्ठा दांव पर
  3. बिहार में जेडीयू-बीजेपी गठबंधन पर मतदाताओं के विश्वास का परीक्षण
नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों, बिहार की एक लोकसभा सीट और दो विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव की मतगणना आज होगी. मतगणना पूरी होने के साथ ही चुनाव परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे. चुनाव परिणाम दोपहर से पहले ही आ जाने की उम्मीद है. यह परिणाम 2019 के लोकसभा चुनाव के परिदृश्य का संकेत देने वाले माने जा रहे हैं. यूपी की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट, बिहार की अररिया लोकसभा सीट के अलावा भभुआ और जहानाबाद विधानसभा सीट के उपचुनाव में 11 मार्च को मतदान हुआ था. मतगणना सुबह आठ बजे शुरू होगी और 10 बजे तक शुरुआती रुझान मिलने लगेंगे. मतगणना के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. यूपी के गोरखपुर और फूलपुर के उपचुनाव में भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. इन दोनों सीटों के उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को बसपा ने समर्थन दिया है. सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने अपनी गोरखपुर सीट की विरासत को बचाने की कठिन चुनौती है. सपा से प्रवीण कुमार निषाद ने चुनाव लड़ा. कांग्रेस प्रत्याशी डॉ सुरहिता करीम हैं. गोरखपुर सीट पर कुल दस उम्मीदवार हैं. यहां 47.75 प्रतिशत मतदान हुआ है.
 
यह भी पढ़ें : गोरखपुर उपचुनाव : योगी की सीट पर पहले जैसा 'योग' नहीं, चौंका भी सकते हैं परिणाम

फूलपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी के प्रत्याशी वाराणसी के पूर्व मेयर कौशलेंद्र सिंह हैं. कांग्रेस के टिकट पर वरिष्ठ नेता जेएन मिश्र के पुत्र मनीष मिश्रा ने यह चुनाव लड़ा है. सपा के प्रत्याशी नागेंद्र प्रताप पटेल हैं जिन्हें बसपा का समर्थन मिला है. फूलपुर सीट पर 22 उम्मीदवार मैदान में हैं. यहां 37.39 फीसदी वोट डाले गए हैं.   

यह भी पढ़ें : फूलपुर उपचुनाव : 2014 में सपा-बसपा के कुल वोटों से ज्यादा मत मिले थे बीजेपी को, अब कड़ा संघर्ष

बिहार की अररिया लोकसभा सीट के उपचुनाव में बीजेपी के प्रदीप कुमार ने एक बार फिर चुनाव लड़ा है. वे पहले भी दो बार इस क्षेत्र से सांसद रहे हैं. आरजेडी की ओर से दिवंगत सांसद तस्लीमुद्दीन के बेटे सरफराज आलम ने चुनाव लड़ा है. यहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य की गठबंधन सरकार में जेडीयू के साथ शामिल बीजेपी के प्रत्याशी को जिताने की चुनौती का सामना कर रहे हैं. अररिया से कुल सात उम्मीदवार चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

यह भी पढ़ें : अररिया उपचुनाव : बीजेपी-आरजेडी के बीच मुकाबला, नीतीश का गठबंधन धर्म दांव पर

बिहार के जहानाबाद विधानसभा उपचुनाव में कुल 12 उम्मीदवार मैदान में हैं. यहां आरजेडी ने अपने दिवंगत विधायक मुंद्रिका सिंह यादव के पुत्र कुमार कृष्ण मोहन उर्फ सुदय यादव को और सत्ताधारी पार्टी जेडीयू ने अभिराम शर्मा को उम्मीदवार बनाया है. भभुआ विधानसभा क्षेत्र में कुल 17 उम्मीदवार हैं. बीजेपी ने अपने दिवंगत विधायक आनंद भूषण पांडेय की पत्नी रिंकी रानी पांडेय को और कांग्रेस ने शंभू पटेल को अपना उम्मीदवार बनाया है.

टिप्पणियां
गोरखपुर सीट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के और फूलपुर सीट उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य के विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण करने के बाद त्यागपत्र देने के कारण रिक्त हुई थी. सितंबर 2017 में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सांसद मोहम्मद तस्लीमुद्दीन के निधन के बाद अररिया सीट खाली हो गई थी. बिहार की भभुआ विधानसभा सीट बीजेपी विधायक आनंद भूषण पांडे के निधन के बाद और जहानाबाद सीट आरजेडी विधायक मुंद्रिका सिंह यादव के निधन के बाद रिक्त हुई है.

VIDEO : उत्तर प्रदेश में साख की लड़ाई
उक्त तीन लोकसभा सीटों और दो विधानसभा सीटों के उपचुनाव के लिए घोषणा 9 फरवरी को हुई थी. नामांकन दाखिले की अंतिम तिथि 20 फरवरी और नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 23 फरवरी थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement