कानपुर : कुख्यात अपराधी को पकड़ने गई पुलिस टीम को घेरकर बरसाईं गोलियां, DSP और तीन SI सहित 8 पुलिसकर्मियों की हत्या

Kanpur Encounter: उत्तर प्रदेश के कानपुर में हिस्ट्रीशीटर Vikash Dubey को गिरफ्तार करने गई पुलिस पर की गई अंधाधुंध फायरिंग.

कानपुर:

उत्तर प्रदेश के कानपुर में शातिर अपराधियों ने गुरुवार रात 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी. अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक इस घटना में डीएसपी स्तर के एक अधिकारी समेत, 3 सब इंस्पेक्टर, 4 सिपाही वीर गति को प्राप्त हुए हैं वहीं कई पुलिस वाले इस घटना में घायल भी बताए जा रहे हैं. घटना राजधानी लखनऊ से 150 किमी दूर कानपुर के डिकरु गांव में हुई है. तीन थानों की टीम कुख्यात अपराधी विकास दूबे को गिरफ्तार करने के लिए पहुंची थी. विकास के नाम 60 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं. हाल ही विकास ने एक मर्डर किया था, इसी केस के सिलसिले में टीम उसे पकड़ने के लिए गांव पहुंची थी. 


कानपुर के पुलिस दिनेश कुमार ने बताया कि टीम अपराधी को गिरफ्तार करने के इरादे से गई थी लेकिन घात लगाकर बैठे अपराधियों ने पुलिस की टीम पर ही हमला कर दिया.  हमारी टीम पर तीन तरफ से गोलीबारी हुई थी. उन्होंने कहा कि यह योजनाबद्ध तरीके से किया गया हमला था. उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, अपराधियों ने गांव की तरफ जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया लेकिन पुलिस की टीम उसे हटाकर गांव पहुंचने में सफल रही थी. पुलिस के गांव में दाखिल होते ही अपराधियों ने छतो से अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इस घटना के बाद एक नजदीकी अस्पताल में घायल पुलिसकर्मियों को ले जाते हुए देखा गया है. इस घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी शोक व्यक्त किया है. साथ ही उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेश एचसी अवस्थी को अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए हैं. जानकारी के अनुसार सीएम दफ्तर ने इस मामले की रिपोर्ट भी मांगी है. पुलिस सूत्रों के अनुसार विकास का एक लंबा आपराधिक रिकॉर्ड रहा है. वो 2001 में बीजेपी नेता के कथित हत्याकांड में भी शामिल रह चुका है. इस मामले में उसे बरी कर दिया गया था.