NDTV Khabar

पेट्रोल-डीजल पर केंद्र सरकार से मिली राहत के बाद जानिये किन-किन राज्यों ने घटाई कीमतें

पेट्रोल और डीजल पर केंद्र सरकार की तरफ से एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, झारखंड, छत्तीसगढ़ और त्रिपुरा ने भी तेल की कीमतों पर राहत दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेट्रोल-डीजल पर केंद्र सरकार से मिली राहत के बाद जानिये किन-किन राज्यों ने घटाई कीमतें

गुजरात, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र सरकार ने भी कम की तेल की कीमत.

खास बातें

  1. केंद्र ने सभी राज्यों के किया दाम घटाने का आग्रह
  2. यूपी, गुजरात, महाराष्ट्र सरकार ने भी घटाए दाम
  3. बीजेपी शासित बाकी राज्य भी घटाएंगे कीमत
नई दिल्ली:

पेट्रोल और डीजल (Petrol-diesel Price) पर केंद्र सरकार की तरफ से एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद उत्तर प्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र ने भी तेल की कीमतों पर राहत दी है. उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, झारखंड और त्रिपुरा की सरकार ने भी तेल की कीमतों में 2.50 रुपये की कटौती की है. इसके बाद वहां लोगों को अब पांच रुपये कम कीमत पर पेट्रोल और डीजल मिलेगा. इसके पहले केंद्र सरकार ने गुरुवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में एक व्यवस्था के तहत 2.50 रुपये प्रति लीटर की कटौती की घोषणा की. इसमें 1.50 रुपये एक्साइज ड्यूटी में की गई कटौती से कम हुए हैं, जबकि एक रुपये प्रति लीटर का बोझ पेट्रोलियम का खुदरा काम करने वाली सरकारी कंपनियां वहन करेंगी. बता दें कि आज शाम तक बीजेपी शासित बाकी राज्य भी वैट में कैटौती का ऐलान कर सकते हैं. उधर, केंद्र सरकार के फैसले का सम्मान करते हुए त्रिपुरा सरकार ने भी पेट्रोल और डीजल के मूल्य में 2.50 रुपये की कमी का फैसला लिया है. मुख्यमंत्री बिप्लब देब की अध्यक्षता में संपन्न राज्य कैबिनेट की बैठक में इसपर निर्णय हुआ है.


यह भी पढ़ें : केंद्र ने तेल की कीमत में कटौती की, 'आप' ने सरकार की मंशा पर उठाए सवाल, कही यह बात...

टिप्पणियां

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि उत्पाद शुल्क में कटौती से केंद्र सरकार को 10,500 करोड़ रुपये के कर राजस्व का नुकसान होगा. जेटली ने राज्य सरकारों से भी इसी अनुपात में बिक्री कर या वैट में कटौती करने का आग्रह किया था. इसके बाद भी बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और गुजरात की तरफ से कीमतों में कटैती का ऐलान किया है. 
 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि उत्पाद शुल्क में कटौती से केंद्र सरकार को 10,500 करोड़ रुपये के कर राजस्व का नुकसान होगा. जेटली ने राज्य सरकारों से भी इसी अनुपात में बिक्री कर या वैट में कटौती करने का आग्रह किया था. इसके बाद भी बीजेपी शासित महाराष्ट्र और गुजरात की तरफ से कीमतों में कटैती का ऐलान किया है. 
 
पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से तेल की कीमतों में कटौती करने का अनुरोध किया है. इसके पहले धर्मेंद्र प्रधान से सरकार के इस फैसले पर पीएम मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली का आभार जताया. उधर, दूसरी तरफ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने केंद्र सरकार की तरफ से 2.5 रुपये की कटौती का स्वागत किया है. 
 
VIDEO : सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाई

पेट्रोल-डीजल की सबसे कम कीमत सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में दिल्ली में है. दिल्ली में पेट्रोल 84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 75.45 रुपये प्रति लीटर पर है. जेटली ने कहा कि ब्रेंट क्रूड बुधवार को चार साल के उच्चतम स्तर 86 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया, जबकि अमेरिका में ब्याज दर सात साल के उच्च स्तर पर हैं. उन्होंने कहा कि देश में मुद्रास्फीति अभी चार प्रतिशत से कम है. ऊंचे कर संग्रह से राजकोषीय घाटे के मोर्चे पर स्थिति संतोषजनक है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement