UP में एक और जिले का नाम बदलने की तैयारी में योगी सरकार, ये हो सकता है 'बस्ती' का नया नाम

जिलाधिकारी निरंजन ने बताया कि बस्ती जिले का नाम बदलने का प्रस्ताव राजस्व बोर्ड को भेजा गया है और नाम बदलने पर एक करोड़ रुपये का खर्च आएगा. 

UP में एक और जिले का नाम बदलने की तैयारी में योगी सरकार, ये हो सकता है 'बस्ती' का नया नाम

योगी सरकार मुगलसराय, फैजाबाद और इलाबाद का नाम बदल चुकी है

गोरखपुर :

उत्तर प्रदेश में जिलों के नाम बदलने का सिलसिला जारी है. योगी सरकार मुगलसराय जिले का नाम बदलकर पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर, इलाहबाद और फैजाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज और अयोध्या करने के बाद अब बस्ती जिले के नाम बदलने की तैयारी में है. प्राप्त जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले का नाम बदलकर वशिष्ठ नगर करने के प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है. जिला प्रशासन ने सरकार को रिपोर्ट भेजी है. जिलाधिकारी निरंजन ने बताया कि बस्ती जिले का नाम बदलने का प्रस्ताव राजस्व बोर्ड को भेजा गया है और नाम बदलने पर एक करोड़ रुपये का खर्च आएगा. 

कभी इलाहाबाद तो कभी फैजाबाद, स्थानों का नाम बदलने की कवायद ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड

बस्ती महोत्सव के साल भर पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बस्ती मेडिकल कॉलेज का नाम महर्षि वशिष्ठ के नाम पर रखने का ऐलान किया था. महर्षि वशिष्ठ भगवान राम के गुरू थे.  मेडिकल कालेज का नाम बदले जाने के बाद से ही सांसद हरीश द्विवेदी और विधायक अजय कुमार सिंह ने जिले का नाम बदलने की मांग शुरू कर दी. 

योगी सरकार के मंत्री बोले, शहरों का नाम बदलने से पहले बीजेपी अपने मुस्लिम नेताओं का नाम बदले

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पहली बार पिछले साल 28 नवंबर को जिले का नाम बदलने का प्रस्ताव राजस्व बोर्ड को भेजा गया था और उसके बाद बोर्ड ने नाम बदले जाने पर होने वाले खर्च के बारे में पूछा था. जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने मंडलायुक्त कुमार सागर को रिपोर्ट भेजी और सागर ने संशोधित रिपोर्ट सरकार को भेज दी. 

Video: कितनी सही नाम बदलने की राजनीति?