वाराणसी : नाविक ने प्रियंका गांधी को दिया बेटी की शादी का न्योता, तो कांग्रेस महासचिव ने भिजवाया तोहफा

उत्तर प्रदेश के वाराणसी का रहने वाला एक नाविक उस समय दंग रह गया जब उसे पता चला कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने उसकी बेटी की शादी के लिए तोहफा भिजवाया है.

वाराणसी : नाविक ने प्रियंका गांधी को दिया बेटी की शादी का न्योता, तो कांग्रेस महासचिव ने भिजवाया तोहफा

प्रियंका गांधी ने नाविक अशोक साहनी की बेटी के लिए साड़ी भिजवाई है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • इसी महीने है अशोक साहनी की बेटी की शादी
  • प्रियंका गांधी के बनारस दौरे पर दिया था न्योता
  • कांग्रेस महासचिव ने तोहफे में भिजवाई साड़ी
वाराणसी:

उत्तर प्रदेश के वाराणसी का रहने वाला एक नाविक उस समय दंग रह गया जब उसे पता चला कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने उसकी बेटी की शादी के लिए तोहफा भिजवाया है. नाविक ने कांग्रेस महासचिव के प्रति आभार व्यक्त किया है. प्रियंका गांधी पिछले कई दिनों से उत्तर प्रदेश के शहरों में घूम रही हैं. उनके दौरे का मकसद नागरिकता कानून (CAA) के विरोध प्रदर्शन के दौरान मारे गए लोगों के परिजनों और घायलों से मुलाकात करना रहा. हाल ही में वह वाराणसी गई थीं. बनारस में CAA के विरोध में एक प्रदर्शन आयोजित किया गया था.

आयोजन स्थल तक जाने के लिए वह एक बोट में सवार हुईं. नाविक अशोक साहनी की बेटी की इसी महीने शादी है. उन्होंने कांग्रेस महासचिव को शादी में आने का न्योता दिया. बीते गुरुवार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय राय अपने समर्थकों के साथ अशोक साहनी के घर पहुंचे और प्रियंका गांधी का एक बधाई पत्र और साड़ी उन्हें सौंपी. बेटी के लिए तोहफा पाकर साहनी फूले नहीं समा पाए और उन्होंने कांग्रेस नेताओं के समक्ष आभार व्यक्त किया. अशोक साहनी ने कहा कि कई नेता और वीआईपी उनकी बोट पर सवार हो चुके हैं लेकिन उन्होंने आज तक किसी नेता का ऐसा रूप नहीं देखा.

ABVP और NSUI कार्यकर्ताओं की झड़प को लेकर प्रियंका गांधी का निशाना- गुंडों को खुला संरक्षण दे रही है BJP सरकार

बताते चलें कि प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर कई सामाजिक कार्यकर्ताओं से भी मुलाकात की थी. प्रियंका ने आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार संविधान के खिलाफ जा रही है. चार घंटे के इस दौरे पर उन्होंने संत रविदास मंदिर जाकर भी प्रार्थना की. इससे पहले वह मुजफ्फरनगर जाकर विरोध प्रदर्शन में मारे गए लोगों के परिजनों से भी मिली थीं. प्रियंका ने आरोप लगाया था कि यूपी पुलिस ने कई बेकसूर नाबालिगों को भी हिरासत में लिया और उनके साथ मारपीट की. इससे पहले जब प्रियंका अपने भाई और कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के साथ पीड़ितों से मिलने के लिए मेरठ जा रही थीं तो पुलिस ने उन्हें धारा-144 लागू होने की बात कहते हुए रास्ते में ही रोक दिया था.

VIDEO: बाजार में नेताओं की तस्वीरों वाली पतंग का बोल-बाला

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com