NDTV Khabar

भारत पांच खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा, आर्थिक सुस्ती अस्थाई: वेंकैया नायडू

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने आर्थिक सुस्ती को वैश्विक कारकों का 'अस्थाई प्रभाव' बताया और कहा कि भारत पांच खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को 2024-25 तक हासिल कर लेगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत पांच खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा, आर्थिक सुस्ती अस्थाई:  वेंकैया नायडू

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 'भारत पांच खरब डालर की अर्थव्यवस्था बनेगा'
  2. 'भारत 2024-25 तक हासिल कर लेगा लक्ष्य'
  3. उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कही यह बात
नई दिल्ली:

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने आर्थिक सुस्ती को वैश्विक कारकों का 'अस्थाई प्रभाव' बताया और कहा कि भारत पांच खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य को 2024-25 तक हासिल कर लेगा. उपराष्ट्रपति ने वैश्विक मामलों की भारतीय परिषद द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि एक अहम अर्थव्यवस्था और विश्व में अहम भूमिका निभाने वाले देश के रूप में भारत का उभरना तथा अफ्रीका की तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था एवं अपना भविष्य खुद निर्धारित करने की उसकी आकांक्षा कुछ ऐसे कारक हैं, जो उनके समकालीन संबंधों को आकार दे रहे हैं. 

भारत-पाक करतारपुर गुरुद्वारा तक वीजा मुक्त यात्रा पर सहमत, आगंतुक शुल्क पर मतभेद

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि भारत 2024-25 में पांच खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने की आकांक्षा रखता है. यही बात आर्थिक सर्वेक्षण 2019 में कही गई है. उन्होंने अर्थव्यवस्था में सुस्ती का जिक्र करते हुए कहा, "मित्रों मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत हैं. सुधार के लिए उठाए गए हमारे कदमों से वे स्थिर हैं और दुनियाभर में सुस्ती के कारण भी कुछ अस्थाई प्रभाव हैं."    


मिड डे मिल की खबर को लेकर पत्रकार के खिलाफ कार्रवाई पर PCI ने यूपी सरकार से मांगी रिपोर्ट

उन्होंने कहा, "लेकिन चिंता की बात नहीं है, भारत आगे बढ़ रहा है,आने वाले दिनों में यह तेजी से आगे बढ़ेगा और अपने लक्ष्य को हासिल करेगा."

टिप्पणियां

VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : पढ़ाई पूरी लेकिन नौकरी नहीं मिली



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement