Budget
Hindi news home page

करीना की तस्वीर से छेड़छाड़ पर बोली वीएचपी, 'दिक्कत है तो मुकदमा ठोक दें'

ईमेल करें
टिप्पणियां
करीना की तस्वीर से छेड़छाड़ पर बोली वीएचपी, 'दिक्कत है तो मुकदमा ठोक दें'
नई दिल्ली: ऐक्ट्रेस करीना कपूर की तस्वीर से की गई छेड़छाड़ (मॉर्फ्ड) पर विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी) का  कहना है कि यदि करीना को इस तस्वीर पर आपत्ति है, तो वह इस पर मुकदमा ठोकने के लिए आजाद हैं। दरअसल, हाल ही में विश्व हिन्दू परिषद की महिला विंग 'दुर्गा वाहिनी' ने कथित तौर पर लव जिहाद बोले जाने वाले ट्रेंड से लोगों को चेतावनी देने के लिए करीना की एक मॉर्फ्ड तस्वीर का इस्तेमाल किया है। यह तस्वीर दुर्गा वाहिनी से जुड़ी मैगजीन 'हिमालय ध्वनि' के कवर पेज पर छपी है।

करीना की यह तस्वीर ट्विटर पर खूब शेयर की जा रही है। इस तस्वीर में करीना के चेहरे का आधा हिस्सा नकाब से ढका हुआ दिखाया गया है जबकि आधे हिस्से पर माथे पर बिंदी और बालों में सिंदूर लगा दिखाया गया है। वीएचपी करीना के फोटो से इस छेड़छाड़ को अपनी अभिव्यक्ति की आजादी बता रही है और अदालत का रूख करने की भी बात कह रही है।

यहां बता दें कि वीएचपी केंद्र में सत्ताधारी बीजेपी से संबंधित राइट-विंग संगठन है। वीएचपी के प्रकाश शर्मा ने इस पूरे मामले पर कहा, 'अगर ऐक्ट्रेस करीना कपूर को इससे प्रॉब्लम है तो अदालत के दरवाजे उनके लिए हमेशा खुले हुए हैं।' करीना की इस तस्वीर के नीचे लिखा है 'धर्मांतरण के ज़रिए राष्ट्रांतरण'। इसे लव जेहाद का विवाद नए सिरे से खड़ा करने की वीएचपी की कोशिश है।

करीना के पति और अभिनेता सैफ़ अली ख़ान ने पत्रिका के इस रवैये को हास्यास्पद बताया है। उन्होंने कहा, 'यह उपहास के योग्य है और मैं यह जानकार अचंभित भी नहीं हूं... पर ऐसा कट्टर और अशिक्षित विचार भारत के लिए काफी बुरा है। इनका तिरस्कार करना बेहद जरूरी है।'

दुर्गावाहिनी ने मुस्लिम युवकों से शादी करने वाली हिंदू महिलाओं के लिए 'रीकन्वर्ट' नाम से एक मुहिम शुरू की है। दुर्गावाहिनी की उत्तर भारत की संयोजक रजनी ठकराल इस अभियान की मुखिया हैं और इस बार दुर्गावाहिनी की ओर से संचालित मैगजीन इसी मुद्दे पर निकाली गई है।

पत्रिका के संपादकीय में लिखा गया है कि लव जिहाद और धर्मांतरण पर काफी चर्चा हो चुकी है। संपादकीय में सवाल किया गया है कि यदि एक लड़की लव जिहाद में फंस जाती है और गलती से मुस्लिम बन जाती है तब वह अपने मूल धर्म में वापस आना चाहती है तो क्या ये उसका अधिकार नहीं?

इस मामले पर दुर्गावाहिनी की राष्ट्रीय अध्यक्ष ने एनडीटीवी से कहा, 'करीना एक सिलेब्रिटी हैं और उनके ऐसा कुछ करने भारत की करोड़ों लड़कियां प्रभावित होती हैं। हम एक भी हिंदू लड़की को लव जिहाद का शिकार नहीं होने देंगे।'

जानकारी के लिए बता दें कि बॉलिवुड की स्टार ऐक्ट्रेस करीना कपूर ने मुस्लिम ऐक्टर सैफ अली खान से शादी की है। करीना 34 साल की हैं और शादी के बाद उन्होंने इस्लाम धर्म नहीं अपनाया है। हालांकि, नाम के साथ खान लगा लिया है।

दैनिक अखबार अमर उजाला को दिए गए इंटरव्यू में मैगजीन पब्लिश करने वालीं रजनी ठकराल  ने कहा, युवा लोग करीना जैसे लोगों से प्रभावित और आकर्षित होते हैं। करीना ने अपनी शादी के वक्त कहा था कि वह इस्लाम नहीं अपनाएंगी और अपना सरनेम भी नहीं बदलेंगी लेकिन केवल खान अपने नाम के साथ लगाएंगी। हालांकि वह कई मुस्लिम रीतियों का पालन कर रही हैं और दोहरा जीवन जी रही हैं। उन्हें इस्लाम पूरी तरह से स्वीकार कर लेना चाहिए क्योंकि उनका दोहरा व्यवहार तो युवाओं को प्रभावित कर रहा है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement