NDTV Khabar

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा- अशफाक उल्लाह खान का राष्ट्र प्रेम भावी पीढ़ियों के लिए सदैव अनुकरणीय रहेगा

आज अमर शहीद अशफाक उल्लाह खान की 119वीं जयंती हैं. उनकी जयंती पर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये देश की आजादी के लिये उनके बलिदान को भावी पीढ़ियों के लिये अनुकरणीय बताया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा- अशफाक उल्लाह खान का राष्ट्र प्रेम भावी पीढ़ियों के लिए सदैव अनुकरणीय रहेगा

खास बातें

  1. अशफाक उल्लाह खान की आज जयंती हैं.
  2. उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें श्रद्धांजलि दी.
  3. प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी अशफाक उल्लाह खान को याद किया.

आज अमर शहीद अशफाक उल्लाह खान (Shaheed Ashfaqulla Khan) की 119वीं जयंती हैं. उनकी जयंती पर उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये देश की आजादी के लिये उनके बलिदान को भावी पीढ़ियों के लिये अनुकरणीय बताया है. नायडू ने ट्वीट कर कहा, ‘‘आज शहीद अशफाक उल्लाह खान की जन्म जयंती के अवसर पर अमर बलिदानी की पुण्य स्मृति को सादर प्रणाम करता हूं. देश के प्रति शहीदों की अविरल निष्ठा राष्ट्रीय चेतना में आज भी अंकित है.'' उपराष्ट्रपति ने देश की युवा पीढ़ी को अशफाक उल्लाह खान से देश प्रेम की प्रेरणा लेने का आह्वान करते हुये कहा कि उनका राष्ट्र प्रेम वर्तमान और भावी पीढ़ियों के लिए सदैव अनुकरणीय रहेगा. 

वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी अशफाक उल्लाह खान को याद किया. प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को कहा कि अशफाक और राम प्रसाद बिस्मिल ने न सिर्फ साथ मिलकर देश के लिए कुर्बानी दी, बल्कि इंसानियत का पाठ भी पढ़ाया. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ''अशफ़ाक उल्ला खान और राम प्रसाद बिस्मिल... दोनों की कहानी आपने सुनी होगी तथा आज के समय में इस कहानी को कहना और जरुरी है. आज अशफ़ाक उल्ला खान का जन्मदिन है."

प्रियंका ने कहा, ''अशफ़ाक और बिस्मिल शाहजहाँपुर के रहने वाले थे. दोनों यह जानते थे कि उनके धर्म अलग-अलग हैं. दोनों यह समझते थे कि उनके कई सारे रीति-रिवाज अलग-अलग हैं. लेकिन दोनों ने साथ मिलकर देश के लिए क़ुर्बानी दी और इंसानियत का पाठ पढ़ाया." उन्होंने कहा, ''अशफ़ाक- बिस्मिल की एकता को सलाम और दोनों स्वतंत्रता सेनानियों को शत शत नमन.''


उल्लेखनीय है कि देश के स्वतंत्रता संग्राम में क्रांतिकारियों की टोली के अग्रणी सदस्य रहे अशफाक उल्लाह खान का जन्म 22 अक्टूबर 1900 को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में हुआ था.

टिप्पणियां

अन्य खबरें
TOP 5 NEWS: पीएम मोदी से मिले अभिजीत मुखर्जी, केजरीवाल ने कहा- दिल्ली की सड़के होंगी रिडिजाइन
पीएम मोदी से मुलाकात के बाद 'एंटी मोदी' वाले बयान पर क्‍या बोले नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement