NDTV Khabar

उपराष्ट्रपति चुनाव में 98.21 फीसदी वोट पड़े, शाम 7 बजे तक आ सकते हैं नतीजे

मतदान सुबह 10 बजे शुरू हुआ. सांसदों ने मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्‍सा लिया. दोपहर तीन बजे तक 97 प्रतिशत मतदान हो चुका था.

34 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उपराष्ट्रपति चुनाव में 98.21 फीसदी वोट पड़े, शाम 7 बजे तक आ सकते हैं नतीजे

उपराष्‍ट्रपति चुनाव 2017 LIVE: मतदान शाम पांच बजे तक होगा.(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. वेंकैया नायडू एनडीए के उम्‍मीदवार
  2. गोपाल कृष्‍ण गांधी यूपीए के प्रत्‍याशी
  3. मौजूदा उपराष्‍ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्‍त को खत्‍म हो रहा
उपराष्ट्रपति के चुनाव के लिए संसद भवन में वोटिंग ख़त्म हो गई है. इस चुनाव में कुल 98.21 फीसदी मतदान दर्ज क‍िया गया है. 785 में से कुल 771 वोट पड़े हैं. मतदान की शुरुआत पीएम मोदी ने की जिसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी व अन्य नेताओं ने अपना वोट डाला. इनके अलावा पूर्व क्रिकेटर और सांसद सचिन तेंदुलकर, एक्ट्रेस रेखा व अन्य मंत्री-सांसदों ने भी अपना वोट डाला है. वोटिंग के बाद शाम 7 बजे तक नतीजे आ जाएंगे.

सहायक निर्वाचन अधिकारी मुकुल पांडेय ने संवाददाताओं से कहा कि मतदान के लिए योग्य कुल 785 सदस्यों में से 771 सांसदों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया. मतगणना शाम छह बजे शुरू हो रही है और सवा सात बजे तक परिणाम आ जायेगा.

भाजपा नेताओं ने बताया कि हमारे दो नेता सांवरलाल जाट और विजय गोयल अस्पताल में भर्ती होने के कारण वोट नहीं डाल सके. इस चुनावी लड़ाई में एनडीए के एम वेंकैया नायडू के सामने विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी हैं.

लोकसभा और राज्यसभा के कुल सदस्यों की संख्या (निर्वाचित और राज्यसभा के मनोनीत सदस्यों को मिलाकर) 790 है. दोनों सदनों में दो दो पद रिक्त हैं. न्यायिक आदेश के बाद भाजपा के एक लोकसभा सदस्य के मतदान पर रोक लगाई गई है. उपराष्ट्रपति चुनाव में लोकसभा और राज्यसभा के निर्वाचित और मनोनीत दोनों तरह के सदस्य मतदान करते हैं.

मतदान सुबह 10 बजे शुरू हुआ. सांसदों ने मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्‍सा लिया. दोपहर तीन बजे तक 97 प्रतिशत मतदान हो चुका था. इस दौरान कुल 785 निर्वाचकों में से 761 वोट डाले जा चुके थे. सुबह सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के साथ सत्‍तारूढ़ एनडीए खेमे की तरफ से प्रत्‍याशी एम वेंकैया नायडू ने मतदान किया. पीएम मोदी तो सुबह 10 बजे से पहले ही वोटिंग लाइन में दिखाई दिए. राजनाथ सिंह ने मुस्‍कुराते हुए कहा कि शाम तक तस्‍वीर साफ हो जाएगी. गोवा के मुख्‍यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने इस दौरान कहा कि हमको वेंकैया नायडू की एक जगह पर कमी खलेगी लेकिन दूसरे स्‍थान पर उनको सक्रिय रूप से देखने का मौका मिलेगा. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी मतदान किया.

यह भी पढ़ें: ये एकतरफा चुनाव नहीं, संविधान के सिद्धांतों पर आधारित लड़ाई- गोपाल कृष्‍ण गांधी

दोपहर 3 बजे तक 97 प्रतिशत वोटिंग
दोपहर तीन बजे तक 97 प्रतिशत मतदान हो चुका है. उपराष्‍ट्रपति चुनावों के असिस्‍टेंट रिटर्निंग ऑफिसर मुकुल पांडे के मुताबिक दोपहर तीन बजे तक कुल 785 निर्वाचकों में से 761 वोट पड़ गए जोकि कुल वोटों का 96.94 प्रतिशत हिस्‍सा है. पांडे के मुताबिक सुबह 10 बजे जब मतदान शुरू हुआ तो शुरू के पहले घंटे में सर्वाधिक सांसदों को वोट डालने के लिए लाइनों में खड़े देखा गया.

दिग्‍गजों ने डाले वोट
कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने भी वोट डाला. उनके साथ गोपाल कृष्‍ण गांधी भी आए. गोपाल कृष्‍ण गांधी वोट नहीं दे सकते क्‍योंकि वह किसी भी सदन के सदस्‍य नहीं है. गोपाल कृष्‍ण गांधी को कांग्रेस, जदयू, आम आदमी पार्टी समेत 19 दलों का समर्थन प्राप्‍त है. इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने भी दीपेंदर सिंह हुड्डा ने भी मतदान किया. इसके अलावा राज्‍यसभा सांसद सचिन तेंदुलकर और बीजेपी की लोकसभा सदस्‍य हेमा मालिनी ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया.
 
sonia gandhi

मैं किसी दल का सदस्‍य नहीं : एम वेंकैया नायडू
इससे पहले बीजेपी के उपराष्‍ट्रपति पद के प्रत्‍याशी एम वेंकैया नायडू ने उपराष्‍ट्रपति चुनाव से पहले कहा कि मैं अब किसी दल का सदस्‍य नहीं हूं...अनेक दल मेरा समर्थन कर रहे हैं...मैं किसी के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ रहा हूं. मैं उप राष्‍ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ रहा हूं. यह चुनाव संवैधानिक पद के लिए लिए है. ऐसे में इसमें किसी प्रकार की राजनीति करने से गुरेज करना चाहिए...मैं सभी सदस्‍यों को जानता हूं और वे मुझे जानते हैं. इसलिए मैंने प्रचार अभियान नहीं किया. मैंने सभी को समर्थन के लिए खत लिखा है और मुझे उसका अच्‍छा रिस्‍पांस मिला है. मुझे भरोसा है कि सभी लोग मेरा समर्थन करेंगे.

यह भी पढ़ें: उप राष्‍ट्रपति चुनाव: मैं किसी के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ रहा- एम वेंकैया नायडू

यह एकतरफा लड़ाई नहीं: गोपाल कृष्‍ण गांधी
उधर गोपाल कृष्‍ण गांधी ने कहा कि उपराष्‍ट्रपति चुनाव एकतरफा नहीं हैं. यह संविधान के सिद्धांतों पर आधारित लड़ाई है. मैं इसमें पूरी विनम्रता के साथ मैदान में हूं और दूसरी तरफ से भी ऐसा ही किया गया है.

वोटिंग प्रक्रिया
सीक्रेट बैलट के जरिये उप राष्‍ट्रपति पद के लिए मतदान होता है. इसमें संसद के दोनों सदनों के सदस्‍य वोट देते हैं. इसमें नामांकित सदस्‍य भी वोट देते हैं. इस चुनाव में बैलट पेपर पर कोई चुनाव चिन्‍ह नहीं होता बल्कि उम्‍मीदवारों के नाम होते हैं. एक विशेष पेन के इंक का ही वोटिंग के लिए इस्‍तेमाल होता है.

वोटों का गणित
A. राज्‍यसभा
निर्वाचित: 233
नामांकित: 12

B. लोकसभा
निर्वाचित: 543
नामांकित: 2
दोनों सदनों के कुल सदस्‍य: 790

यह भी पढ़ें: उपराष्‍ट्रपति चुनाव: बीजेपी का यह सहयोगी दल UPA प्रत्‍याशी को देगा वोट, जानें 5 बातें

एनडीए का गणित
वैसे आंकड़े एनडीए उम्‍मीदवार वेंकैया नायडू के पक्ष में हैं. इसका कारण यह है कि 545 सदस्‍यीय लोकसभा में बीजेपी के 281 सदस्‍य हैं और पूरे राजग खेमे के पास यहां 338 मत हैं. राज्‍यसभा का आंकड़ा भी अब बीजेपी के पक्ष में हो गया है. वहां बीजेपी के पास अब 58 सदस्‍य हो गए हैं. कांग्रेस के ऊपरी सदन में 57 मत हैं. इस सदन में भी अब एनडीए के पक्ष में आंकड़ा है. 493 सदस्यों के साथ नायडू को 394 मतों के जरूरी आंकड़ें को पार कर लेने की उम्‍मीद है. भाजपा को तो 500 मतों के मिलने की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें : पार्टी मां की तरह है, हमें उसे कभी नहीं भूलना चाहिए : वेंकैया नायडू

VIDEO: उपराष्‍ट्रपति चुनावके लिए मतदान

यूपीए का गणित
महात्मा गांधी के पौत्र, पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल व पूर्व राजनयिक गोपाल कृष्ण गांधी विपक्ष के उम्मीदवार हैं. उन्हें कांग्रेस, वामदल, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, द्रमुक, तृणमूल कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और नेशनल कांफ्रेंस का समर्थन हासिल है.

यह भी पढ़ें: वेंकैया नायडू ने पाकिस्‍तान को चेताया, कहा - 1971 की जंग को मत भूलो

अब राजग में शामिल हो चुके जनता दल (यू) ने भी गांधी को समर्थन देने का ऐलान किया हुआ है. गांधी को जरूरी मतों का आधा भी मिलने की उम्मीद नहीं है. वर्तमान उपराष्ट्रपति व राज्यसभा सभापति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है. वह 11 अगस्त 2007 से इस पद पर हैं. 11 अगस्त 2012 को वह दोबारा इस पद पर चुने गए थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement