गैंगस्टर विकास दुबे के साथी ने पूछताछ में बताया- पुलिसवालों के कत्ल के बाद कानपुर से कैसे भागकर दिल्ली-NCR पहुंचे

उत्तर प्रदेश पुलिस के एनकाउंटर में मारे गए कानपुर कै गैंगस्टर विकास दुबे के साथी प्रभात मिश्रा ने पुलिस की पूछताछ में अहम जानकारियां दी थीं.

गैंगस्टर विकास दुबे के साथी ने पूछताछ में बताया- पुलिसवालों के कत्ल के बाद कानपुर से कैसे भागकर दिल्ली-NCR पहुंचे

प्रभात ने बताया- पुलिसवालों की हत्या के बाद कहां-कहां गया विकास दुबे.

खास बातें

  • पुलिस एनकाउंटर में मारा गया है प्रभात मिश्रा
  • पूछताछ में पुलिस को दी थीं अहम जानकारियां
  • कहा था- गलती हुई है

उत्तर प्रदेश पुलिस के एनकाउंटर में मारे गए कानपुर कै गैंगस्टर विकास दुबे के साथी प्रभात मिश्रा ने पुलिस की पूछताछ में अहम जानकारियां दी थीं. उसने पुलिस को बताया था कि आखिर पिछले शुक्रवार को जिस कानपुर मुठभेड़ की खबर आई थी, उसके बाद इन सबने क्या किया था. उसने पुलिस को घटना के बाद विकास दुबे के मूवमेंट की भी जानकारी दी. जानकारी है कि प्रभात ने पुलिसिया पूछताछ के दौरान कहा कि उससे गलती हुई है.

एनकाउंटर के बाद क्या-क्या हुआ?

प्रभात ने पूछताछ में बताया कि वो, विकास दुबे और अमर दुबे वारदात के बाद पहले कानपुर के पास शिवनी पहुंचे, जहां वो दो दिन रहे. फिर वहां से एक दोस्त की गाड़ी में औरैया के एक पेट्रोल पंप तक आए. फिर तीनों वहां से एक बस में बैठकर दिल्ली के बदरपुर पहुंचे. उसके बाद एक दिन एक होटल में रहे. फिर यहां से वो फ़रीदाबाद में अंकुर मिश्रा के घर पहुंचे. लेकिन पुलिस जब तक यहां छापेमारी के लिए पहुंचती, वहां से विकास दुबे पहले ही कहीं निकल गया. 

इसके बाद से ही विकास का कोई सुराग नहीं लग पा रहा है. मास्क और गमछा पहने होने की वजह से लोग विकास को रास्ते मे पहचान नहीं पाए. अब दिल्ली-एनसीआर में विकास की तलाश चल रही है. पुलिस को पूरा शक है कि वो दिल्ली-एनसीआर में ही कहीं छिपा बैठा है. इसके लिए दिल्ली पुलिस को भी अलर्ट किया गया है. फिलहाल पुलिस के पास उसका कोई सुराग नहीं है. बुधवार को सरकार ने विकास दुबे के सिर पर इनाम की राशि को बढ़ाकर पांच लाख रुपए कर दिया है.

बता दें कि आखिरी बार मंगलवार को दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में देखा गया था. लेकिन जब पुलिस वहां छापा मारने पहुंची तो वह वहां से निकल चुका था. बुधवार को पुलिस ने फरीदाबाद से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. प्रभात मिश्रा और अंकुर, विकास दुबे के साथी थे. इनके पास चार पिस्तौल भी बरामद की गई थी.

प्रभात पुलिस एनकाउंटर में मारा गया

प्रभात मिश्रा को पुलिस गुरुवार को ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी, जिस दौरान उनके बीच एनकाउंटर शुरू हो गया. जिसमें गोली लगने से प्रभात की मौत हो गई. पुलिस ने जानकारी दी कि उसकी गाड़ी का टायर पंक्चर हो गया था, जिसे ठीक किया जा रहा था, इसी दौरान प्रभात ने एक पुलिसकर्मी से रिवॉल्वर छीनकर पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. उसने कई राउंड फायरिंग की. पुलिस ने उसे जवाबी कार्रवाई में मार गिराया. इसके अलावा गुरुवार को ही इटावा में भी पुलिस ने एक बदमाश का एनकाउंटर किया है, जिसकी पहचान विकास दुबे के साथ रणबीर के तौर पर की गई है.

Video: फरीदाबाद से बच निकला विकास दुबे

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com