जांच करेंगे विकास दुबे को कैसे मिली जमानत या परोल- NDTV से बोले SIT प्रमुख जस्टिस चौहान

Vikas Dubey Encounter: आयोग के अध्यक्ष जस्टिस बीएस चौहान ने एनडीटीवी से कहा कि वह जांच के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. 

जांच करेंगे विकास दुबे को कैसे मिली जमानत या परोल- NDTV से बोले SIT प्रमुख जस्टिस चौहान

एसआईटी करेगी विकास दुबे मामले की जांच (फाइल फोटो)

खास बातें

  • आयोग करेगा जांच कैसे मिली थी विकास दुबे को जमानत
  • जांच के लिए पूरी तरह तैयार : पूर्व न्यायाधीश चौहान
  • निर्धारित समय के भीतर जमा करेंगे न्यायालय को रिपोर्ट : पूर्व जज
नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट ने विकास दुबे एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश बीएस चौहान के नेतृत्व में जांच आयोग गठित करने पर मुहर लगा दी है. आयोग के अध्यक्ष सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश बीएस चौहान ने एनडीटीवी से कहा कि वह जांच के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. इस पहलू की जांच करेंगे कि विकास दुबे को परोल या जमानत कैसे मिली. यह एक अहम मुद्दा है, जिसकी जांच पैनल कोर्ट के आदेश के अनुसार करेगा. हम सभी पहलुओं की जांच करेंगे और अपनी रिपोर्ट समय पर अदालत को सौंपेंगे. 

यूपी सरकार ने शीर्ष न्यायालय में बुधवार को हुई सुनवाई के दौरान, जांच आयोग के लिए सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज जस्टिस बी एस चौहान के नाम का सुझाव दिया. यूपी सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि जस्टिस चौहान लॉ कमीशन के चेयरमैन भी रह चुके हैं और उन्होंने जांच आयोग के लिए सहमति भी जताई है. आयोग में यूपी के पूर्व डीजीपी के एल गुप्ता के नाम सुझाव गया था. न्यायालय ने इस पर अपनी मुहर लगा दी है. 

 सुप्रीम कोर्ट ने जांच कमीशन को एक हफ्ते में गठित करने को.कहा है. न्यायालय ने कहा कि सचिव.स्तर के अधिकारी केन्द्र सरकार मुहैया कराएगी यूपी सरकार नहीं. दो महीने में आयोग अपनी रिपोर्ट दाखिल करेगा. आयोग हर पहलू की गंभीरता से जांच करेगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

शीर्ष न्यायालय ने कहा कि दुबे मामले से निपटने वाले अधिकारियों की भूमिका और निष्क्रियता की जांच करें. इस बात की भी जांच हो कि विकास दुबे की जमानत रद्द करने के क्या प्रयास किए गए थे.

वीडियो: विकास दुबे की घटना पूरे सिस्टम की विफलता : सुप्रीम कोर्ट