विकास दुबे सरेंडर या गिरफ्तार? यूपी के पूर्व CM अखिलेश यादव ने सरकार से उठाया बड़ा सवाल

कानपुर जिले स्थित चौबेपुर में पिछले हफ्ते 8 पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्या करके फरार हुआ आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को गुरुवार की सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर में गिरफ्तार कर लिया गया है.

विकास दुबे सरेंडर या गिरफ्तार? यूपी के पूर्व CM अखिलेश यादव ने सरकार से उठाया बड़ा सवाल

यूपी के पूर्व CM अखिलेश यादव- फाइल फोटो

लखनऊ:

कानपुर जिले स्थित चौबेपुर में पिछले हफ्ते 8 पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्या करके फरार हुआ आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को गुरुवार की सुबह उज्जैन के महाकाल मंदिर में गिरफ्तार कर लिया गया है. अब यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने ट्वीट करके गैंगस्टर की गिरफ्तारी पर सरकार से सवाल उठाया है. उन्होंने पूछा है कि सरकार साफ़ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी.

अखिलेश यादव ने ट्वीट कर लिखा, ''खबर आ रही है कि ‘कानपुर-काण्ड' का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है. अगर ये सच है तो सरकार साफ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी. साथ ही उसके मोबाइल की CDR सार्वजनिक करे जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके.''

बताते चले कि कानपुर के चौबेपुर में घटना को अंजाम देकर फरार विकास पहले दिल्ली-एनसीआर पहुंचा, लेकिन पुलिस की जबरदस्त दबिश के बाद फिर वह मध्यप्रदेश के उज्जैन जिला पहुंचा, जहां उसे महाकाल मंदिर के बाहर एमपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को मंगलवार को दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में देखा गया था. लेकिन जब पुलिस वहां छापा मारने पहुंची तो वह वहां से निकल चुका था.

Newsbeep

वहां से गैंगस्टर विकास दुबे मध्य प्रदेश की तरफ भाग निकला. उज्जैन में गुरुवार को सुबह 8 बजे महाकाल मंदिर परिसर पहुंचा, वहां प्रसाद की एक दुकान पर एक दुकानदार को शक हुआ. उसने मंदिर सिक्योरिटी को बताया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


जब पूजा करके वो बाहर निकला तो सिक्योरिटी वाले उसे लेकर आये. आईडी दिखाने को कहा जो किसी और के नाम से बनी थी. जब सिक्योरिटी ने ज्यादा पूछा तो वो मारपीट करने लगे. थाने लेकर आये तो उसने कबूल कर लिया.