कुख्यात गैंगस्‍टर विकास दुबे की पत्‍नी और बेटे को भी हिरासत में लिया गया : सूत्र

कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubay) की गुरुवार सुबह मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन में हुई गिरफ्तारी के बाद उसकी पत्नी और बेटे को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. सूत्रों ने यह जानकारी दी है.

कुख्यात गैंगस्‍टर विकास दुबे की पत्‍नी और बेटे को भी हिरासत में लिया गया : सूत्र

विकास दुबे की पत्नी और बेटे को लिया गया हिरासत में.

लखनऊ:

कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubay) की गुरुवार सुबह मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन में हुई गिरफ्तारी के बाद उसकी पत्नी और बेटे को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. सूत्रों ने यह जानकारी दी है. सूत्रों ने बताया कि स्‍पेशल टॉस्‍क फोर्स  उनलोगों को (STF) पूछताछ के लिए ले गई है. जानकारी के अनुसार, विकास की पत्नी और बेटा लखनऊ के कृष्णानगर इलाके में अपने घर के पास बने एक पानी भरे हुए प्‍लॉट में जाकर खड़े हो गए थे, जहां से पुलिस उन्हें ले गई है.

बता दें कि कानपुर में पिछले हफ्ते आठ पुलिसकर्मियों (Kanpur Police Murder Case) को घेरकर बेरहमी से हत्या करने के आरोपी विकास दुबे को उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है. वह उज्जैन के महाकाल में दर्शन के लिए गया था, तभी वहां के गार्ड ने पहचाना. जिसके बाद वहां की पुलिस एक्शन में आई और उसे वहीं धर लिया गया.विकास दुबे को शाम को यूपी पुलिस को सौंप दिया गया.

मध्‍यप्रदेश के उज्‍जैन से गिरफ्तार गैंगस्‍टर विकास दुबे को यूपी पुलिस को सौंपा गया, 10 खास बातें..

उत्तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्य बल (STF) का एक दल गुरुवार को उज्जैन पहुंचा और विकास दुबे को अपनी हिरासत में ले लिया था.एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘दुबे को उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप दिया गया है और पुलिस दल उसे सड़क मार्ग से उत्तर प्रदेश ले गया है.''इससे पहले, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया था कि दुबे के साथ उसके दो साथियों बिट्टू और सुरेश को भी गिरफ्तार किया गया है और अब वह पुलिस की हिरासत में हैं.

विकास दुबे की गिरफ्तारी पर यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने किया ट्वीट, कहा- अपराधी विकास के संरक्षकों को भी...

Newsbeep

गौरतलब है कि कानपुर के बिकरु गांव में पुलिस गैंगस्‍टर और सियासी जगत में रसूख रखने वाले विकास दुबे को पकड़ने गई थी. इस बात की जानकारी विकास दुबे और उसके कथित गैंग के लोगों को पता चल गई थी. उसके लोगों ने पूरी प्लानिंग के साथ गांव में घुसने वाले रास्ते में जीसीबी खड़ा कर रास्ता रोक दिया और पुलिस पर बेतहाशा फायरिंग की. तीन तरफ से हुई फायरिंग में सीओ देवेंद्र  मिश्रा, एसओ महेश यादव, चौकी इंचार्ज अनूप कुमार, सब इंन्पेक्टर, नेबुलाल, कांस्टेबल सुल्तान सिंह, राहुल, जितेन्द्र और बबलू को जान गंवानी पड़ी थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: जांच में पाई गई जानकारी को यूपी पुलिस के साथ साझा करेंगे : मध्यप्रदेश पुलिस