पश्चिम बंगाल के गांव में संघर्ष में 27 पुलिसकर्मी, छह ग्रामीण घायल

खास बातें

  • पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में मंगलवार को सुबह हुए संघर्ष में कम से कम 27 पुलिसकर्मी और छह ग्रामीण घायल हो गए।
सूरी (पश्चिम बंगाल):

पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में मंगलवार को सुबह हुए संघर्ष में कम से कम 27 पुलिसकर्मी और छह ग्रामीण घायल हो गए।

बताया जाता है कि खरासोल पुलिस थाने के लोबा गांव में सुबह पुलिस का एक दल अपनी एक मशीन लेने के लिए गया था। एक परियोजना के लिए उपयोग की जा रही इस मशीन को ग्रामीणों ने जबरदस्ती अपने पास रख लिया था। गांव पहुंचे पुलिस दल पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया।

पश्चिम बंगाल के गृह सचिव बसुदेव बनर्जी ने कोलकाता में संवाददाताओं से कहा कि संघर्ष में 27 पुलिसकर्मी और छह ग्रामीण घायल हो गए। उन्होंने बताया कि पुलिस ने संयम बरता और गोलीबारी नहीं की।

बनर्जी ने कहा कि ‘अर्थ मूविंग मशीन डीवीसी-ईएमटीए’ को एक परियोजना के लिए यहां लाया गया था और ग्रामीणों ने विवाद के बाद मशीन अपने पास रख ली थी।

उन्होंने कहा कि घायलों का सूरी अस्पताल और बर्दवान मेडिकल कालेज हॉस्पिटल में इलाज किया जा रहा है। गृह सचिव ने कहा कि जिला मजिस्ट्रेट से बातचीत के जरिये समस्या सुलझाने की खातिर कदम उठाने को कहा गया है। विपक्ष के नेता सूर्यकांत मिश्रा ने दावा किया कि पुलिस ने गोलीबारी की।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कोलकाता में अपनी शुरूआती प्रतिक्रिया में कहा ‘गोली चलाने का कोई कारण नहीं था फिर भी पुलिस ने गोली चलाई।’ माकपा नेता ने कहा कि वह और जानकारी हासिल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि घटना की जांच होनी चाहिए।

कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष प्रदीप भट्टाचार्य ने ग्रामीणों के हवाले से कहा कि पुलिस ने गोली चलाई। पुलिस ने हालांकि गोलीबारी करने से इनकार किया है। भट्टाचार्य ने कहा ‘फिर गोलियां कहां से आईं। यह तो जांच के आदेश से ही पता चल पाएगा।’