स्वामी विवेकानंद के विचारों के प्रचार- प्रसार के लिए 2 सितंबर से शुरू होगा राष्ट्रव्यापी अभियान

विवेकानंद केंद्र, कन्याकुमारी स्वामी विवेकानंद के विचारों का प्रचार-प्रसार करने के लिए सालभर तक चलने वाले राष्ट्रव्यापी संपर्क कार्यक्रम की शुरुआत करने जा रहा है.

स्वामी विवेकानंद के विचारों के प्रचार- प्रसार के लिए 2 सितंबर से शुरू होगा राष्ट्रव्यापी अभियान

संपर्क कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते विवेकानंद केंद्र के पदाधिकारी.

नई दिल्ली :

विवेकानंद केंद्र, कन्याकुमारी स्वामी विवेकानंद के विचारों का प्रचार-प्रसार करने के लिए सालभर तक चलने वाले राष्ट्रव्यापी संपर्क कार्यक्रम की शुरुआत करने जा रहा है. इस संपर्क कार्यक्रम का शुभारम्भ 2 सितंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से राष्ट्रपति भवन में संपर्क के साथ होगा. उसके बाद केंद्र के अधिकारी उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी संपर्क करेंगे. संपर्क कार्यक्रम का नाम ‘एक भारत, विजयी भारत' रखा गया है. विवेकानंद केंद्र, कन्याकुमारी की उपाध्यक्ष निवेदिता भिड़े ने बताया कि देशभर में विवेकानंद केंद्र की 1005 प्रकल्पों के करीब 20000 कार्यकर्ताओं के सहयोग से यह कार्यक्रम 2 सितंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ भेंट के साथ शुरू होगा.

gff8k7g8

कन्याकुमारी स्थित विवेकानंद रॉक मेमोरियल. 

उसके बाद एक टीम उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलेगी.उन्होंने बताया कि संपर्क कार्यक्रम 2 सितंबर 2019 से शुरू होकर वर्ष भर चलेगा. कार्यक्रम के तहत कम से कम 30 लाख लोगों से संपर्क का लक्ष्य रखा गया है. वर्ष भर संपर्क कार्यक्रम की समाप्ति के बाद दिल्ली अथवा कन्याकुमारी में एक वृहद कार्यक्रम की भी रूपरेखा तैयार की जा रही है. वहीं, विवेकानंद केंद्र के महासचिव डी भानुदास ने बताया कि केंद्र की सभी प्रांतीय टीमें सभी राज्यों में राज्यपालों एवं मुख्यमंत्रियों तथा समाज के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों से स्वामी विवेकानंद के विचारों के प्रसार के लिए मिलेंगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Swami Vivekananda Quotes: स्‍वामी विवेकानंद के ये 10 विचार बदल देंगे आपकी जिंदगी

कार्यक्रम के दौरान लोगों को विवेकानंद रॉक मेमोरियल की प्रेरणादायी कहानी और विवेकानंद केंद्र की गतिविधियों के बारे में बताया जाएगा. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी की उपाध्यक्ष निवेदिता भिड़े के अलावा उपाध्यक्ष वी बालाकृष्ण, महासचिव भानुदास धाक्रस, संयुक्त महासचिव रेखा दवे, संयुक्त महासचिव किशोर टोकेकर उपस्थित रहे.