NDTV Khabar

कैसा है महाराष्ट्र और हरियाणा का सियासी गणित, जहां आज हो रहे हैं मतदान, पढ़ें- 10 खास बातें

Maharashtra, Haryana Assembly Election: महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान हो रहे हैं. बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियां दोनों ही राज्यों में सत्ता बरकरार रखने कोशिश में जुटी हुई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैसा है महाराष्ट्र और हरियाणा का सियासी गणित, जहां आज हो रहे हैं मतदान, पढ़ें- 10 खास बातें

महाराष्ट्र और हरियाणा में आज चुनाव (प्रतिकात्मक फोटो)

नई दिल्ली : महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान होने जा रहा है. बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियां दोनों ही राज्यों में सत्ता बरकरार रखने कोशिश में जुटी हुई हैं, जबकि विपक्षी दल सत्ता विरोधी लहर का फायदे उठाते हुए इसे अपने पक्ष में करने जुगत में है. आज इन दो राज्यों में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ 51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों के लिए उपचुनाव भी हो रहा है. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला बीजेपी की अगुवाई वाले महागठबंधन या फिर कहें 'महायुति' और कांग्रेस एनसीपी गठबंधन यानी कि 'महा अघाड़ी' (मोर्चा) के बीच है. इस चुनाव में 4,28,43,635 महिला मतदाताओं सहित कुल 8,98,39,600 मतदाता मतदान के लिए योग्य हैं. महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों के लिए 235 महिलाओं समेत 3,237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाये गए हैं जिन पर साढ़े छह लाख कर्मचारी तैनात किये गए हैं. इसी तरह हरियाणा में भी सत्तारूढ़ बीजेपी और कांग्रेस के बीच मुख्य मुकाबला नजर रहा है. दोनों राज्यों में शांतिपूर्वक और निष्पक्ष तरीके से चुनाव कराने के लिए इलेक्शन कमीशन ने भी कमर कसी है. केंद्रों पर भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किये गए हैं. आइये आपको बताते हैं चुनाव से जुड़ी 10 खास बातें....
महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव से जुड़ी अहम बातें
  1. महाराष्ट्र में 288 विधानसभा सीटों के लिए 235 महिलाओं समेत कुल 3,237 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. मतदान के लिए 96,661 मतदान केंद्र बनाये गए हैं, जिनपर साढ़े छह लाख कर्मचारी तैनात किये गए हैं. महाराष्ट्र में बीजेपी मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की अगुवाई में लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए पूरा दमखम लगा रहे हैं.
  2. यहां बीजेपी 164 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जिसमें उसके कमल के निशान पर चुनाव लड़ने वाले छोटे सहयोगी दलों के उम्मीदवार शामिल हैं. वहीं शिवसेना ने 126 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए हैं.  दूसरी ओर, कांग्रेस ने 147 और सहयोगी राकांपा ने 121 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. 
  3. अन्य दलों में, राज ठाकरे के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने 101 उम्मीदवार, भाकपा ने 16, माकपा ने आठ उम्मीदवार उतारे हैं. बसपा ने 262 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. जबकि दूसरी तरफ, 1400 निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में ताल ठोंक रहे हैं.
  4. प्रमुख उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री फडणवीस और कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण शामिल हैं. वहीं कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण सतारा जिले के कराद दक्षिण से चुनाव मैदान में हैं. उद्धव ठाकरे के बेटे और युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे मुंबई के वर्ली से चुनाव लड़ रहे हैं. 
  5. इसी तरह, हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) में राज्य के लगभग 1.82 करोड़ मतदाता 1169 उम्मीदवारों के भाग्य का फ़ैसला करेंगे. हरियाणा की अद्यतन मतदाता सूची एवं अन्य अहम आंकड़ों के बारे में निर्वाचन आयोग द्वारा जारी ब्योरे के मुताबिक़ राज्य मे कुल 1,82,82,570 मतदाता हैं.
  6. इनमें 97.7 लाख पुरुष और 85 लाख महिला मतदाताओं के अलावा 724 अनिवासी भारतीय और 1.07 लाख सर्विस वोटर शामिल हैं. राज्य की 90 विधानसभा सीटों के लिए कुल 1169 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इनमें 1064 पुरुष, 104 महिलाएं और एक अन्य उम्मीदवार शामिल हैं. 
  7. सर्वाधिक 25 उम्मीदवार हांसी सीट पर और सबसे कम छह उम्मीदवार अंबाला केंट और शाहबाद (सुरक्षित) सीट पर हैं. राज्य के सियासी समीकरण की बात करें तो सत्ताधारी बीजेपी का मुकाबला विपक्षी कांग्रेस और नयी पार्टी 'JJP' के साथ है. हरियाणा में कांग्रेस सत्ता में वापसी की उम्मीद कर रही है. 
  8. दूसरी तरफ, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में बीजेपी ने 90 में से 75 सीटें जीतने का टारगेट तय किया है. चुनाव लड़ रहे प्रमुख उम्मीदवारों में खट्टर (करनाल), पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (गढ़ी सांपला किलोई), रणदीप सिंह सुरजेवाला (कैथल), किरण चौधरी (तोशाम) और कुलदीप बिश्नोई (आदमपुर) और JJP के दुष्यंत चौटाला (उचना कलां) शामिल हैं. 
  9. महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ आज 17 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव (By Election) भी होगा. बीजेपी और उसके सहयोगी दलों के पास इनमें से करीब 30 सीटें हैं जबकि कांग्रेस ने 12 सीटें जीती थीं और बाकी क्षेत्रीय दलों के पास गई थीं. 
  10. बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश की 11 सीटों, गुजरात की 6 सीटों, बिहार की 5, असम की 4 और हिमाचल प्रदेश और तमिलनाडु की 2-2 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होगा. अन्य राज्यों जहां उपचुनाव होगा उनमें पंजाब की 4 सीटें, केरल की 5, सिक्किम की 3, राजस्थान की 2 और अरूणाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, पुडुचेरी, मेघालय और तेलंगाना की 1-1 विधानसभा सीटें शामिल होंगी. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement