हम कोरोना वैक्सीन पाने की दहलीज़ पर हैं : सर्वदलीय बैठक में बोले PM नरेंद्र मोदी

Coronavirus Vaccine : पीएम ने कहा कि भारतीय वैक्सीन निर्माता कंपनियां और ICMR ग्लोबल प्रोड्यूसर्स के संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट अब कह रहे हैं कि वैक्सीन अगले कुछ हफ्तों में तैयार हो जाएगी और जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, देश में टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा.

खास बातें

  • कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति पर पीएम ने की सर्वदलीय बैठक
  • पीएम बोले- हम वैक्सीन पाने की दहलीज पर खड़े हैं
  • PM बोले- 8 ऐसी वैक्सीन हैं जिनका ट्रायल अलग-अलग स्टेज पर है
नई दिल्ली:

कोरोना (Coronavirus) पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आज एक सर्वदलीय बैठक (All Party Meeting) की. उसके बाद उन्होंने, कहा कि हम कोविड-19  वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) पाने की दहलीज पर खड़े हैं. उन्होंने बताया कि सबसे पहले ये वैक्सीन हेल्थ वर्कर, डॉक्टर और मरीजों को दी जाएगी. माना जा रहा है कि अगले कुछ हफ्तों में कोविड-19 की वैक्सीन तैयार कर ली जाएगी. पीएम ने कहा कि देश में करीब आठ ऐसी वैक्सीन हैं, जिनका ट्रायल अलग-अलग स्टेज पर है. फिलहाल भारत में तीन अलग-अलग वैक्सीन का ट्रायल अलग-अलग चरणों में है. पीएम मोदी ने कहा कि कोविड-19 की वैक्सीन डिस्ट्रीब्यूशन के लिए केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर काम कर रही हैं और इसके लिए देश में कोल्ड चेन की व्यवस्था को और मजबूत किया जा रहा है.

सर्वदलीय बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना वैक्सीन को लेकर जो विश्वास सभी दलों के नेताओं ने जताया है, उससे कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई को और मजबूती मिलेगी. उन्होंने कहा कि जो प्रजेंटेशन हुआ, उसमें विस्तार से बताया गया कि कितने दिनों से प्रयास चल रहे हैं और मौजूदा स्थिति क्या है.

मॉडर्ना की COVID-19 वैक्सीन 3 महीने तक शरीर में एंटीबॉडी को बने रहने में करती है मदद : रिपोर्ट

पीएम ने कहा कि सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात हुई है और टीकाकरण को लेकर सभी ने अहम सुझाव दिए हैं. उन्होंने कहा कि कुछ दिनों पहले मेड इन  इंडिया के तहत वैक्सीन बनाने वाले वैज्ञानिकों से बात हुई थी. हमारे वैज्ञानिक अपनी वैक्सीन को लेकर बहुत आश्वस्त हैं. पीएम ने कहा कि अभी कुछ वैक्सीन के नाम दुनियाभर में चल रहे हैं लेकिन सबकी नजरें सबसे सस्ती वैक्सीन पर टिकी है. इस दिशा में पूरी दुनिया की नजरें भारत पर भी टिकी हैं.

पीएम ने कहा कि भारतीय वैक्सीन निर्माता कंपनियां और ICMR ग्लोबल प्रोड्यूसर्स के संपर्क में हैं. उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट अब कह रहे हैं कि वैक्सीन अगले कुछ हफ्तों में तैयार हो जाएगी और जैसे ही वैज्ञानिकों की हरी झंडी मिलेगी, देश में टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा. पीएम ने कहा कि टीका किन्हें पहले दिया जाना है, इस पर गाइडलाइंस बनाई जा रही है. उन्होंने कहा कि हमारी कैपिसिटी दुनिया भर के अन्य देशों से बेहतर है. हमारे पास बड़ा नेटवर्क है, उसका लाभ उठाया जाएगा.

भारत में कब से मिलेगी Pfizer की कोविड-19 वैक्सीन? जानें- अमेरिकी फार्मा कंपनी ने क्या कहा

Newsbeep

पीएम ने कहा कि भारत ने एक विशेष सॉफ्टवेयर भी बनाया है, जिसमें कोरोना वैक्सीन के लाभार्थी, वैक्सीन के उपलब्ध स्टॉक और स्टोरेज से जुड़ी रियल टाइम जानकारी रहेगी. उन्होंने कहा कि भारत में कोरोना वैक्सीन के रिसर्च के लिए विशेष टास्क फोर्स बनाया गया था और वैक्सीन से जुड़े अभियान का दायित्व नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप को दिया गया है, जिसमें टेक्निकल एक्सपर्ट हैं. केंद्र सरकार के संबंधित विभागों और मंत्रालयों के अधिकारी हैं और प्रत्येक जोन के हिसाब से राज्य सरकारों के भी प्रतिनिधि अधिकारी ग्रुप में शामिल हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पीएम ने कहा कि नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम कर रहा है. पीएम ने कहा कि इस ग्रुप द्वारा राष्ट्रीय और स्थानीय स्तर पर फैसले सामूहिक तौर पर लिए जाएंगे.