NDTV Khabar

कश्मीर में आतंक खत्म करने के लिए केंद्र के रुख का समर्थन : RSS

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीर में आतंक खत्म करने के लिए केंद्र के रुख का समर्थन : RSS

खास बातें

  1. जो लोग देश का विरोध करते हैं उन्हें हीरो नहीं बनाना चाहिए
  2. यूपी में बीजेपी के सीएम उम्मीदवार पर बीजेपी नेता ही जवाब देंगे
  3. संघ छुआछूत मिटाने के लिए काम कर रहा है, यह हिन्दू समाज पर एक कलंक
कानपुर:

कश्मीर में आतंकवाद के पूरी तरह से खत्म नहीं होने का जिक्र करते हुए राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार आतंकवाद को समाप्त करने के लिए जो भी कदम उठाएगी संघ उसका समर्थन करेगा।

संघ के सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबले ने कहा कि संघ का यह मानना है कि जो कोई देश का विरोध करता है उसे हीरो नहीं बनाना चाहिए। उनका इशारा जम्मू-कश्मीर में मुठभेड़ में मारे गए आतंकवादी बुरहान वानी की तरफ था।

उन्होंने कहा, 'केंद्र सरकार का आतंकवाद के खिलाफ रुख सही है, अभी कश्मीर में आतंकवाद पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है। इस पर लगाम लगाने की जरूरत है। देश के विरोध में जो आतंकी घटनाएं हो रही हैं वह कोई मानवाधिकार का प्रश्न नहीं है और जो लोग देश का विरोध करते हैं उसे हीरो नहीं बनाना चाहिए।'

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री पद के चेहरे के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि इसका जवाब बीजेपी के नेता देंगे। उनसे गोरखपुर के सांसद योगी आदित्यनाथ का नाम बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में आगे बढ़ाए जाने की संभावना के बारे में पूछा गया था।


हिंदुओं के पलायन के मुद्दे पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि आरएसएस ने इस मुद्दे को काफी पहले उठाया था और संघ कहीं से भी हिन्दुओं के पलायन का विरोध करता है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रांत प्रचारक वर्ग की वार्षिक बैठक 11 से 15 जुलाई तक कानपुर शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर सिंहपुर में हुई। शुक्रवार को अनुषांगिक संगठनों की बैठक के बाद संघ के सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबले पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे।

होसबले ने एक सवाल के जवाब में कहा कि याकूब मेनन या अफजल गुरू को फांसी की सजा देश की व्यवस्था के तहत हुई। केंद्र में जब यूपीए की सरकार थी तब इन दोनों को फांसी की सजा हुई और देश के संविधान के तहत हुई। जो लोग उसको नकार रहे हैं वह देश के कानून को नकार रहे हैं। आतंकवाद को मिटाने के लिए जो किया जाना चाहिए, वह किया जाए और इस मामले में हम केंद्र सरकार का समर्थन करते हैं।

कश्मीर और कैराना से हिन्दुओं के पलायन के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि कश्मीर से हिन्दुओं के पलायन का मुद्दा सबसे पहले संघ ने ही उठाया था और देश में कहीं भी हिन्दुओं का पलायन हो, हम उसका विरोध करते हैं।

संघ के सामाजिक समरसता और हिन्दुओं में छुआछूत को मिटाने के लिए कार्य करने से क्या आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को फायदा होगा, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि सामाजिक समरसता और हिन्दुओं में छुआछूत को मिटाने के लिए संघ काफी समय से काम कर रहा है। क्योंकि छुआछूत हिन्दू समाज पर एक कलंक है। अब इसका चुनाव में कोई भी फायदा उठाए इससे हमें कोई मतलब नहीं है।

यह पूछे जाने पर कि उत्तर प्रदेश के चुनावों में संघ की क्या भूमिका होगी इस पर उन्होंने कहा कि संघ की कोई भूमिका नहीं होगी। दत्तात्रेय होसबले ने कहा कि अब संघ बच्चों के लिए बाल भारती, बाल गोकुल, महाविद्यालय में छात्रों के लिए, महानगरों में रहने वालों तथा आईटी प्रोफेशनल के लिए अलग-अलग तरह के शिविर लगा रहा है और संघ के ऐसे शिविरों में हिन्दू समाज के लोग बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं।

उन्होंने कहा कि संघ के सह सरकार्यवाह सुरेश सोनी अब पूरी तरह से स्वस्थ हैं उनकी हार्ट सर्जरी हुई थी, जिसके बाद वह कुछ दिनों के लिए अध्ययन अवकाश पर गए थे। अब वह पूरी तरह से संघ के कार्यों में लगे हैं।

इससे पहले उन्होंने राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के कानपुर में चले तीन दिवसीय प्रांत प्रचारक वर्ग शिविर के बारे में पत्रकारों से कहा कि संघ की प्रांत प्रचारक वर्ग का यह शिविर पांच साल में एक बार आयोजित किया जाता है। इसमें प्रांत प्रचारकों का प्रशिक्षण वर्ग 11 से 13 जुलाई तक हुआ, उसके बाद 14 व 15 जुलाई को संघ के प्रांत प्रचारकों के साथ साथ संघ के अन्य अनुषांगिक संगठन जैसे भारतीय जनता पार्टी, विश्व हिन्दू परिषद, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जैसे 40 संगठन शामिल हुए।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की शाखाओं में साल 2010 के बाद से करीब 12 हजार शाखाओं की बढ़ोत्तरी हुई है और अब पूरे देश में करीब 57 हजार शाखाएं हैं और ये शाखाएं दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं। अब इन शाखाओं का उचित प्रबंधन कैसे किया जाए, इस बाबत संघ के पदाधिकारियों ने विचार विमर्श किया।

टिप्पणियां

शुक्रवार की इस बैठक में बीजेपी की तरफ से राममाधव व रामलाल भी शामिल हुए। उन्होंने बताया कि शनिवार को शहर के प्रबुद्ध वर्ग के लोगों से संघ के पदाधिकारी चाय पर चर्चा करेंगे।

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... कैटरीना कैफ ने स्टेज पर किया धमाकेदार डांस, Video हुआ वायरल

Advertisement