NDTV Khabar

'हमें गहरी निराशा हुई है' : नीतीश के इस्‍तीफे और महागठबंधन में टूट पर कांग्रेस ने कहा

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस्तीफे की खबर से हमें गहरी निराशा हुई है.

1830 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
'हमें गहरी निराशा हुई है' : नीतीश के इस्‍तीफे और महागठबंधन में टूट पर कांग्रेस ने कहा

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. नीतीश के इस्तीफे की खबर से हमें गहरी निराशा हुई है- रणदीप सिंह सुरजेवाला
  2. नीतीश कुमार के लिए एक राजनेता के रूप में बहुत सम्मान है- कांग्रेस
  3. बातचीत कर मतभेद दूर करने की कोशिश करने की कोशिश करेंगे- सुरजेवाला
नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार द्वारा इस्तीफा दिए जाने पर पर गहरी निराशा जाहिर की. कांग्रेस ने कहा कि पार्टी महागठबंधन के घटकों के बीच उपजे वैचारिक मतभेदों को दूर करने की कोशिश करेगी, ताकि पांच साल के लिए मिले जीत के जनादेश का सम्मान किया जा सके.

ये भी पढ़ें...
प्राइम टाइम इंट्रो : नीतीश का इस्तीफा और मोदी की बधाई...

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, "बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस्तीफे की खबर से हमें गहरी निराशा हुई है. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में हम, खासतौर से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी के भीतर नीतीश कुमार के लिए एक राजनेता के रूप में बहुत सम्मान है".

ये भी पढ़ें...
बीजेपी ने नीतीश कुमार को समर्थन देने का किया ऐलान, सरकार में शामिल होगी

उन्होंने कहा, "बिहार के लोगों ने महागठबंधन को उसकी नीतियों, सिद्धांतों और सामूहिक नेतृत्व के आधार पर पांच साल का जनादेश दिया था".

ये भी पढ़ें...
लालू यादव बोले, 'कौन सा जीरो टोलरेंस... कौन सी ईमानदारी, नीतीश तो हत्‍या के मामले में आरोपी हैं'
'कफन में जेब नहीं होती, जो भी होगा यहीं रह जाएगा', इस्‍तीफे के बाद नीतीश ने लालू पर कसा तंज...

सुरजेवाला ने कहा कि 2015 की जीत भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ एक जनादेश भी थी, जिन्होंने बिहार के लोगों का अपमान करने की कोशिश की थी. उन्होंने कहा, "बिहार के लोगों ने हमारी नीतियों, सिद्धांतों और नेतृत्व के आधार पर महागठबंधन को सम्मान दिया".

VIDEO : लालू यादव का नीतीश कुमार पर हमला...



सुरजेवाला ने कहा, "हम लगातार कोशिश करेंगे कि बिहार के लोगों द्वारा पांच साल के लिए दिए गए जनादेश का पूरी तरह सम्मान किया जाए. जो भी वैचारिक मतभेद पैदा हुए हैं, उन्हें हम आपस में सौहाद्र्रपूर्ण तरीके से बातचीत कर दूर करने की कोशिश करने की कोशिश करेंगे".

(इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement